DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पटना के दो छात्रों ने बनाया एप, बोलकर होगा ऑनलाइन पेमेंट

दुनिया के कुछ सबसे कामयाब व्यवसायियों ने अपने व्यवसाय की नींव कॉलेज के दिनों में ही रख दी थी। समाज की समस्याओं को पहचान कर नए-नए तरीकों से समाधान खोजने की शुरुआत अक्सर कॉलेजों में पढ़ने वाले छात्रों द्वारा की जाती है। ऐसे ही हैं पटना के रहने वाले दो छात्र, केशव प्रवासी और शिशिर मोदी, जिन्होंने बनाई ‘निकी’ एक ऐसी एप जिससे ऑनलाइन पेमेंट करने के लिए अंग्रेजी या एप इस्तेमाल करने की कोई जानकारी ज़रूरी नहीं है | निकी से केवल बातचीत करके अब सभी घर खर्च संबंधी सारी ऑनलाइन पेमेंट खुद कर सकते हैं |

आई आई टी खड़गपुर में इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने वाले पटना के एक छोटे से कस्बे में पले-बढ़े शिशिर और केशव ने अपने दो सहपाठियों, सचिन जायसवाल और नितिन बाबेल के साथ मिलकर, देश के सभी नागरिकों को ऑनलाइन लाने की ज़िम्मेदारी उठाई और निकी डॉट ए आई नाम के एक अनोखे स्टार्टअप का निर्माण किया | 

पढ़ाई के दिनों को याद करते हुए शिशिर ने कहा  पटना के पास एक छोटे से कस्बे से अपना सफ़र शुरू करके आईआईटी खड़गपुर तक पहुँचना बहुत मुश्किल था। जहां एक तरफ उनके साथ पढ़ने वाले दूसरे छात्र अपनी पढ़ाई में लगे हुए थे, केशव और उन्हें अपने कॉलेज के पाठ्यक्रम को समझने से पहले कंप्यूटर के इस्तेमाल को समझना था।
इन्हीं कुछ कठिनाइयों का सामना करते करते अपने देश के छोटे शहरों और गांव के लिए टेक्नोलॉजी को इस्तेमाल के योग्य बनाने की प्रेरणा मिली।

निकी  के ज़रिये अब हर कोई हिन्दी और अंग्रेजी दोनों ही भाषाओं में अपने वो सभी काम कर सकते हैं जो अभी तक अंग्रेजी भाषा न जानने के कारण नहीं कर पाते थे। पटना से दिल्ली जाने के लिए रेल का टिकट हो या पंकज त्रिपाठी की नई फिल्म देखने जाने का मन हो, अब किसी भी गांव या कसबे से में बैठा व्यक्ति, जो केवल हिन्दी ही पढ़ना और लिखना जानता है, इस ऐप के माध्यम से अपना काम कर सकता है। यही नहीं, बल्कि मोबाइल का रिचार्ज करवाना हो या फिर बिजली-पानी का बिल हो या फिर म्युनिसिपल दफ्तर में जमा करने वाला कोई टैक्स हो, आप हर काम निकी से बोल कर या लिखकर करवा सकते हैं। 

फ्री में उपलब्ध है निकी एप 
निकी एप को आप फ्री में गुगल प्ले से इंस्टाल कर इस्तेमाल कर सकते हैं अपने फोन में इनस्टॉल करके आप किसी भी सर्विस का इस्तेमाल फ्री में कर सकते हैं, जैसे बिल पेमेंट करना है तो जितने का बिल है उतने पैसे ही देने होंगे, इसमें कोई एक्स्ट्रा चार्ज नहीं लगता , बल्कि आपको हर पेमेंट पर ऑफर या डिस्काउंट भी मिल सकता है जिससे समय के साथ साथ आप महीने में काफी पैसे भी बचा सकते हैं । इस एप में वॉयस साल्युशन भी है जिसमें यूजर बोल कर एप को कमांड देगा। इसे फिलहाल 50 कंपनियों के साथ टाइअप किया गया है। जिससे इस एप के द्वारा भुगतान किया जाएगा। निकी विक्सित करने का मुख्य मकसद भारत में डिजिटल लेन-देन को सरल बनाने के लिए है साथ ही आसानी के साथ गांव देहात के लोगों के लिए ऑनलाइन ट्रांसजेक्शन को आसान करना था। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Patnas two students made app will speak pay online payment