DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सिख हेरिटेज एंड रिसर्च सेंटर:अब पटना में होगा सिख धर्म पर शोध

                                                                                                                                                                                                                                                        550

गुरु गोबिंद सिंह जी की जन्मस्थली पटना अब सिख गुरुओं के गौरवशाली इतिहास को तराशने और सहेजने का एक महत्वपूर्ण केंद्र बनेगी। राजधानी के दारोगा प्रसाद राय पथ स्थित बिहार विधानसभा आवासीय परिसर के ठीक बगल में सिख हेरिटेज एंड रिसर्च सेंटर का निर्माण अब लगभग पूरा होने को है। 

बिहार राज्य पर्यटन विकास निगम 10 करोड़ की लागत से इसका निर्माण करवा रहा है। वर्ष 2015 से बन रहे इस रिसर्च सेंटर का भवन लगभग बनकर तैयार हो गया है। फिनिशिंग का काम चल रहा है। इस सेंटर में सिख धर्म और गुरुओं पर रिसर्च होगा। वहीं बच्चों को गुरुमुखी सिखाने की व्यवस्था की जाएगी। गुरु नानक जी के 550वें प्रकाशवर्ष मनाने की तैयारी का केंद्र बिंदु भी यह भवन होगा। 10 हजार स्क्वायर फीट में फैले इस रिसर्च सेंटर का भवन 70 फीट ऊंचा है। देखने में इसका ढांचा बिल्कुल एक गुरुद्वारे की तरह है, लेकिन फिलहाल यहां धार्मिक कार्यों की बजाय रिसर्च और सोशल वेलफेयर यानी समाजसेवा से जुड़ी गतिविधियों पर फोकस किया जाएगा। 

रिसर्च सेंटर का भवन जी प्लस फोर बनाया गया है। इस भवन में 16 कमरे हैं। इसके अलावा एक पुस्तकालय, स्कॉलर्स के लिए नौ कमरे और एक कॉन्फ्रेंस हॉल। गुरुनानक जी की 500वीं जयंती के मौके पर केंद्र सरकार ने देश की सभी राज्य सरकारों को गुरुनानक भवन बनाने के लिए जमीन उपलब्ध कराने का निर्देश दिया था। 1975 में सरकार के आदेश के बाद बिहार में दारोगा प्रसाद राय पथ की आधा एकड़ जमीन सिख प्रतिनिधि बोर्ड को दी गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sikh Heritage and Research Center Now there will be research on Sikhism in Patna