DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बारिश से थी राहत की उम्मीद, दोपहर में धूप ने झुलसा दिया

पटना में सोमवार की देर रात हुई बारिश से गर्मी से राहत की उम्मीद जगी। मगर अगली सुबह ही 10 बजते-बजते सूरज की तल्ख होती किरणों ने परेशानी बढ़ा दी। पटना में रेड अलर्ट भले ही खत्म हो गया, लेकिन मंगलवार को दिनभर लू जैसे हालात रहे। पटना का अधिकतम तापमान सामान्य से पांच डिग्री ऊपर 41.4 और न्यूनतम 25.8 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है। राजधानी में पूरे दिन लू चली है। 

पछुआ हवा लगातार गर्मी बढ़ा रही है। बारिश के कारण आर्द्रता बढ़ने के कारण उमसभरी तेज गर्मी ने जनजीवन पर प्रतिकूल असर डाला। राजधानी की सड़कों पर कम लोग ही निकले। उत्तर प्रदेश के उत्तर-पूर्वी इलाकों से बिहार होते हुए झारखंड तक बने ट्रफ लाइन के कारण बिहार में बारिश की संभावना बनी है। इस कारण पश्चिमी चंपारण से सीवान बक्सर होते हुए पटना में भी बादल पहुंच रहे हैं। लोकल थंडर स्टॉर्म विकसित होने शुरू हो गए हैं। गरज के साथ बारिश हो रही है। 

लगातार बढ़ रही है आद्रर्ता 
मौसम विभाग के पूर्वानुमान की मानें तो अगले तीन से चार दिन मानसून के बंगाल से सिक्किम तक ही पहुंचने की संभावना है। इसके बाद मानसून का प्रवेश बिहार में होता है। यदि सबकुछ ठीक रहा तो एक हफ्ते बाद ही मानसून का बिहार में प्रवेश हो पाएगा। हालांकि, उत्तर प्रदेश और नेपाल से आ रही नमी के कारण आर्द्रता लगातार बढ़ रही है। यही कारण है कि राजधानी पटना में भी हर दिन सुबह में बादल दिख रहे हैं। 21 जून से आंधी-पानी के भी आसार बन रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Rain expected from relief sunburn blazes in afternoon