DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्मार्ट असर: पार्किंग वसूलने वालों को मिलेगा नोटिस

शहर के 150 ऐसे व्यावसायिक भवन जो नियम विरुद्ध ग्राहकों से पार्किंग शुल्क वसूल करते हैं, उन्हें नगर निगम ने नोटिस जारी करने का फैसला किया है। व्यावसायिक भवनों में पार्किंग शुल्क के नाम पर जनता से नियम के विरुद्ध हजारों रुपए वसूली को लेकर हिंदुस्तान स्मार्ट ने ‘मुफ्त पार्किंग-अपना अधिकार’ अभियान चलाया था। 

नगर निगम सशक्त स्थायी समिति की 35वीं साधारण बैठक में उप महापौर मीरा देवी, सदस्य विकास कुमार मौर्य उर्फ विक्की और इंद्रदीप चंद्रवंशी ने जोरशोर से सवाल उठाए। इन दोनों सदस्यों ने अफसरों को कटघरे में लाते हुए कहा कि आखिर शॉपिंग मॉल और दूसरे व्यावसायिक भवनों में जनता से हजारों रुपए पार्किंग शुल्क वसूलने का क्या औचित्य है। निगम का एक्ट क्या कहता है। इसकी जांच करवाकर कार्रवाई क्यों नहीं की जा रही है। एक ही मुद्दे पर तीन-तीन सदस्यों के इन तीखे सवालों पर अफसर भी कुछ जवाब नहीं दे पा रहे थे। बताते चलें कि शहर में कुछ मशहूर, बड़े मॉल और अस्पतालों के मालिकों द्वारा हर रोज वाहन पार्किंग शुल्क के नाम पर हजारों रुपए वसूल किए जाते हैं।

इन एजेंडे पर लगी मुहर
करीब दो महीने बाद आयोजित सशक्त स्थायी समिति की बैठक में जहां चार नए चेहरे  दिखे वहीं 27 सूत्रीय एजेंडे में तीन एजेंडों पर सहमति नहीं बन पाई। इनमें मुख्य एजेंडा स्पायरो के द्वारा होल्डिंग टैक्स वसूली का रहा। दरअसल, स्पायरो को हटाने की निगम की कोशिश पर एजेंसी ने कोर्ट स्टे ले रखा है। जिसकी वजह से इस एजेंडे को लंबित रखना पड़ा। इधर जिन मुद्दों पर सदस्यों की सहमति बनी उनमें मुख्य रूप से 196 करोड़ रुपए की लागत से आर्य कुमार रोड, खेतान मार्केट और राजेंद्र नगर में बनने वाले मॉल का ई-ऑक्सन किए जाने पर सहमति बनी। इन मॉल का ऑक्सन 15, 400 रुपए प्रति स्क्वायर फिट के हिसाब से किया जाएगा। इसी क्रम में पटना आउटोर एडवरटाईिंजग रेगुलेशन 2019 की स्वीकृति, पटना ऑप्टिकल फाइवर केबल रेगुलेशन 2019 की स्वीकृति, पटना रोड कटिंग रेगुलेशन 2019 की स्वीकृति आदि पर सहमति बनी। इसके अलावा किफायती आवास परियोजना के तहत जमीन खरीदने, पटना नगर निगम के अंचल कार्यालयों का जीर्णोंद्धार, ऑडिट प्रतिवेदनों की स्वीकृति, ठोस कचरा प्रबंधन एवं स्वच्छता संबंधी विभिन्न योजना की प्रशासनिक स्वीकृति के लिए प्रस्ताव पारित हुआ। 

उप महापौर मीरा देवी
सवाल- व्यावसायिक भवन में जो पार्किंग शुल्क लिया जा रहा है वह तो गलत है। फिर भी यह वसूली क्यों हो रही है?
आयुक्त का जवाब- हां, यह वसूली गलत है। हम ऐसे व्यावसायिक संस्थानों को चिह्नित करके नोटिस देंगे। उचित कार्रवाई की जाएगी।  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Parking collectors will get notice in Patna