DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फ्लैट में चलता था सेक्स रैकेट का धंधा, अगरबत्ती से मिटाते थे शराब की बदबू

पाटलिपुत्रा थाना के नेहरूनगर स्थित ग्रैंड अपार्टमेंट के फ्लैट नंबर डी-आठ में शराब के साथ सेक्स रैकेट चल रहा था। शराब की दुर्गंध बाहर न पहुंचे, इसके लिए फ्लैट के गेट पर हमेशा अगरबत्ती जलती थी। जिस्मफरोशी के धंधे पर कोई शक न करे, इसलिए फ्लैट के बाहर नीबू मिर्चा लटकाकर सात्विक के दिखावे का काम किया जा रहा था। इस हाईप्रोफाइल सेक्स रैकेट में बंगाल से लेकर कई प्रदेशों से लड़कियां बुलाई जाती थीं और ग्राहकों से मोलभाव भी ऑनलाइन ही होती थी। इस गंभीर मामले में पुलिस ने भी बड़ा खेल कर दिया है। हिन्दुस्तान स्मार्ट ने पाटलिपुत्रा थाने के पुलिस की मनमानी जब एसएसपी तक पहुंचाई तो आनन फानन में कार्रवाई हुई। 

फ्लैट में ताला लगाकर कागज में कर दिया सील 
सोमवार की शाम पुलिस ने सेक्स रैकेट का खुलासा करते हुए संचालक संजीत, सुनील और रानी थाना को गिरफ्तार किया। कुछ युवतियां भी बरामद हुईं, जिन्हें मुक्त कराया गया। पुलिस ने इस कार्रवाई में 48 घंटे बाद तक फ्लैट को सील नहीं किया था। हालांकि एफआईआर में दिखावे के लिए फ्लैट को सील दिखा दिया गया था। हिन्दुस्तान स्मार्ट ने जब इस घटना की मंगलवार को पड़ताल की तो पुलिस की मनमानी का बड़ा खुलासा हुआ। कागजों में सील फ्लैट में बिना सील के ताला लटक रहा था, जिसकी चाबी दारोगा लेकर घूम रहा था।

स्मार्ट की पड़ताल और दो घंटे में फ्लैट सील 
हिन्दुस्तान स्मार्ट ने पड़ताल के बाद जब पुलिस की मनमानी का मामला एसएसपी गरिमा मलिक तक पहुंचाया तो हड़कम्प मच गया। एसएसपी ने फटकार लगाई और कार्रवाई का आदेश दिया। दो घंटे में ही फ्लैट को सील कर दिया गया। सूत्रों की मानें तो संजीत पाटलिपुत्रा एरिया में कई अपार्टमेंट में यह कारोबार करता था, लेकिन पुलिस इसका भी सुराग पूछताछ में नहीं लगा पाई है। इतना ही नहीं फ्लैट की मालकिन को भी पुलिस 48 घंटे में नहीं ढूंढ पाई है। इस गंभीर मामले में पुलिस की लापरवाही में भी सवाल है।

अगरबत्ती और नीबू मिर्च धंधे की निशानी 
पड़ताल में पता चला कि फ्लैट के मेन गेट पर अगरबत्ती और नीबू मिर्चा धंधे का इंडिकेटर था। कोई भी ग्राहक आता था, वह इसी संकेत से अंदर पहुंच जाता था। धंधेबाज सुजीत ने रेट भी काफी महंगा लगा रखा था, क्योंकि वह शराब के साथ हर तरह के खाने-पीने का सामान मुहैया कराता था। सूत्रों की मानें तो उस फ्लैट में पहले भी संदिग्ध लोग रह चुके हैं। इस फ्लैट को किराए पर देने में हर बार मनमानी की गई है। पूर्व में भी इस फ्लैट को लेकर विवाद रहा है। सूत्रों का कहना है कि फ्लैट का दलाल एक सब्जी वाला था, जो धंधे में सहयोग करता था। 48 घंटे बाद भी पुलिस इसका सुराग नहीं लगा पाई है। फ्लैट में प्रतिदिन नई-नई लड़कियों व अनजान लोगों का आना-जाना होता था। पुलिस इस हाई प्रोफाइल मामले में अब तक धंधे की जड़ तक नहीं पहुंची है बल्कि आरोपियों को जेल भेजने के बाद उसकी जांच सिमट कर रह गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:alcohol smell was erased from incense sticks in patna