DA Image
26 जनवरी, 2021|2:42|IST

अगली स्टोरी

हिन्दुस्तान मिशन शक्ति : प्रयागराज की रेखा ने सैकड़ों नाबालिगों और बुजुर्गों को परिजनों से मिलाया

हिन्दुस्तान मिशन शक्ति : प्रयागराज की रेखा ने सैकड़ों नाबालिगों और बुजुर्गों को परिजनों से मिलाया

प्रयागराज हिन्दुस्तान संवाद

कौड़िहार ब्लॉक के कंजिया गांव की रेखा मिश्रा आरपीएफ सब इंस्पेक्टर हैं। अपहरण की शिकार व घर से भागी हुई सैकड़ों नाबालिगों को रेखा ने उनके परिजनों से मिलवाया है। रेखा मिश्रा की पहली पोस्टिंग 2014 में छत्रपति शाहूजी महराज टर्मिनल मुंबई में हुई थी। 2015 से 2017 तक महिला सशक्तीकरण जागरूकता अभियान चलाया। उस दौरान 519 नाबालिग बच्चों को बचाया जिनमें 154 बालिका और 365 बालक शामिल रहे। रेखा मिश्रा ने 2019 में प्रयागराज महाकुंभ के दौरान महिला सुरक्षा व खोया पाया केंद्र तथा चाइल्ड रेस्क्यू टीम इंचार्ज के रूप में काम किया। उस दौरान 312 नाबालिग बच्चों को उनके परिवार से मिलाया जिनमें 94 बालिका व 218 बालक शामिल रहे। 600 वरिष्ठ नागरिक को भी उनके परिवारीजनों से मिलवाया। महाराष्ट्र सरकार ने कक्षा दस के कुमार भारती पुस्तक में रेखा मिश्रा की बहादुरी पर एक अध्याय वीरांगना रेखा मिश्रा एक अभिमान बिंदु पाठ जोड़ा है जिसमें बच्चों को उनकी बहादुरी की जानकारी दी गई है। 2017 में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने रेखा को नारी शक्ति पुरस्कार से नवाजा। रेखा मिश्रा ने इस पुरस्कार में मिली धनराशि को एनजीओ को दान कर दिया। सीएम महाराष्ट्र, फिक्की के अलावा तमाम संगठनों ने पुरस्कृत किया। उनकी पोस्टिंग मुंबई दादर में है। वर्तमान में लखनऊ स्थित जगजीवन राम अकादमी में प्रशिक्षुओं को प्रशिक्षण दे रही हैं।

नाम -रेखा मिश्रा

निवासी - कंजिया कौड़िहार

काम-आरपीएफ सब इंस्पेक्टर

योगदान-1153 नाबालिगों को परिजनों से मिलाया, महाकुम्भ में चाइल्ड रेस्क्यू इंचार्ज

पुरस्कार - राष्ट्रपति पुरस्कार, महाराष्ट्र सरकार व फिक्की की ओर सम्मानित

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Hindustan Mission Shakti Prayagraj 39 s line introduced hundreds of minors and elders to family