फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News हिन्दुस्तान मिशन शक्ति मुरादाबादहिन्दुस्तान मिशन शक्ति:: बिजनौर के हल्दौर की नीति ने अपनी नीतियों से कपड़ा कारोबार में कई को दिया रोजगार

हिन्दुस्तान मिशन शक्ति:: बिजनौर के हल्दौर की नीति ने अपनी नीतियों से कपड़ा कारोबार में कई को दिया रोजगार

फैशन डिजाइनर नीति ऐरन खुद ही आत्मनिर्भर नहीं बनीं बल्कि औरों को भी रोजगार देने का काम किया। मामूली रकम से शुरू किया सिलाई कढ़ाई का करोबार अब...

हिन्दुस्तान मिशन शक्ति:: बिजनौर के हल्दौर की नीति ने अपनी नीतियों से कपड़ा कारोबार में कई को दिया रोजगार
हिन्दुस्तान मिशन शक्ति:: बिजनौर के हल्दौर की नीति ने अपनी नीतियों से कपड़ा कारोबार में कई को दिया रोजगार
हिन्दुस्तान टीम,मुरादाबादSat, 21 Nov 2020 04:51 PM
ऐप पर पढ़ें

‘हिन्दुस्तान मिशन शक्ति के तहत समाज में अनुकरणीय उदाहरण पेश करने वाली महिलाओं के चयन का काम चल रहा है। ‘हिन्दुस्तान इन महिलाओं की उपलब्धियों को आपसे साझा करने का काम कर रहा है। इसी क्रम में प्रस्तुत है नीति ऐरन की प्रेरक स्टोरी...

फैशन डिजाइनर नीति ऐरन खुद ही आत्मनिर्भर नहीं बनीं बल्कि औरों को भी रोजगार देने का काम किया। मामूली रकम से शुरू किया सिलाई कढ़ाई का करोबार अब करोड़ों में पहुंच चुका है। देश के अलग अलग हिस्सों में उनकी फर्म के कपड़ों को पसंद किया जाता है। निम्न स्तर से शुरू किये सिलाई कढ़ाई केन्द्र को अपनी मेहनत और लगन से बड़े स्तर तक पहुंचाया। जोकि, महिलाओं के लिए आत्मनिर्भर बनने की दिशा में एक मिसाल बनी हैं।

अमरोहा निवासी नीति ऐरन की शादी 1991 में हल्दौर के मोहल्ला रईसान निवासी सौरभ ऐरन से हुई। नीति ऐरन ने दिल्ली से फैशन डिजाइनिंग में डिप्लोमा किया था। शादी के बाद हल्दौर जैसे छोटे कस्बे से ही अपना कारोबार शुरू करने का निश्चय किया। नीति ऐरन के अनुसार उन्होंने करीब 24 वर्ष पहले स्वरोजगार शुरू किया। शुरुआत में दो लोगों से सिलाई कढ़ाई का काम निम्न स्तर से शुरू किया। दो लोगों को लगाकर कपड़ों की सिलाई कढ़ाई का शुरू किया गया काम धीरे-धीरे बढ़ने लगा। हालांकि शुरुआत में आस-पास के शहरों में ही कपड़ों की आपूर्ति की जाती थी। बेहतर काम के चलते डिमांड बढ़ने लगी। आस-पास के शहरों के बजाए दूसरी जगहों से भी आर्डर मिलने लगे। अब देश के बड़े शहरों दिल्ली, कोलकाता, मुंबई आदि में भी हल्दौर से कढ़ाई किए हुए कपड़ों की आपूर्ति की जाती है। नीति ऐरन ने करीब 24 साल पहले इस कारोबार की शुरुआत की थी। जिसे अब एपील्स नाम की फर्म से जाना जाता है। फर्म में अब कुशल कारीगर काम करते हैं। फर्म में कारीगरों का काम भी नीति ऐरन स्वयं ही देखती हैं और डिजाइनिंग भी खुद ही करती हैं। उनकी फर्म में कई महिला-पुरुष काम करते हैं। इसी वजह से नीति ऐरन हल्दौर ही नहीं बल्कि आसपास क्षेत्र के लोगों को रोजगार देकर उनकी जीविका का भी सहारा बनी हैं। अपनी फर्म के लिए कच्चा माल धागा इत्यादि क्षेत्रीय दुकानदारों से ही खरीदना पसंद करती हैं। जिससे कि क्षेत्रीय व्यापारियों का भी कारोबार चले। महिलाओं और पुरुषों को स्वावलंबी बनाने की दिशा में निरंतर काम कर रही हैं। परिवार की आय बढ़ाने के लिए विशेषकर महिलाओं को निरंतर प्रेरित करती रहती हैं।

नीति ऐरन

-----------

स्थान--हल्दौर का मोहल्ला रईसान

पेशा --फैशन डिजाइनर