DA Image
24 जनवरी, 2021|11:54|IST

अगली स्टोरी

हिन्दुस्तान मिशन शक्ति : जीवन में अनुशासन जरूरी, इसे थोपा हुआ न समझें

हिन्दुस्तान मिशन शक्ति : जीवन में अनुशासन जरूरी, इसे थोपा हुआ न समझें

देवरिया | निज संवाददाता

'हिन्दुस्तान' मिशन शक्ति अभियान के तहत गुरुवार को ओम एस्ट्रॉल इंस्टीट्यूट में स्कूल संवाद का आयोजन हुआ। पैनलिस्ट में शामिल महिलाओं ने छात्राओं को आत्मविश्वास बढ़ाने, आत्मरक्षा के उपाय और कानूनी मामलों की जानकारी दी। जीवन में अनुशासन को महत्वपूर्ण बताते हुए इसे मां-बाप या शिक्षक द्वारा थोपा हुआ न समझकर उत्साहपूर्वक अपनाने की सलाह दी गई। ताइक्वांडो विशेषज्ञों ने आत्मरक्षा के विभिन्न उपाय बताकर घर पर अभ्यास करने की सलाह दी।

संवाद के दौरान छात्राओं ने खुलकर सवाल पूछे। बिट्टू मिश्रा ने पूछा कि सुबह उठकर आधा घंटा पढ़ती हूं तब तक सिर दुखने लगता है। क्या करें। इस पर योग विशेषज्ञ डॉ. पम्मी सिंह ने छात्रा को योग और एक्यूप्रेशर के माध्यम से निजात पाने के उपाय बताए। प्रियंका कुशवाहा ने पूछा कि पढ़ाई करते समय सोने का मन करता है। इससे कैसे निपटें। पैनलिस्ट ने कहा कि अपने पॉजिटिव साइड को स्ट्रांग बनायें। सबसे पहले अपना लक्ष्य निर्धारित करें। लक्ष्य निर्धारित करने के बाद पढ़ाई के समय कभी भी नींद नहीं आयेगी। छात्रा नेहा झा ने कहा कि कई बार सुबह योग करने के बाद भी दिनभर दिक्कत रहती है। इस पर पैनलिस्ट ने पूछा कि आप सुबह कितने बजे उठती हैं।

उन्होंने यह भी कहा कि सुबह जल्दी उठिये। रात को जल्दी सो जाइए। इसके बाद प्रकृति के निकट से जुड़ेंगीं तो स्वास्थ्य ठीक रहेगा। रमा तिवारी ने शोहदों द्वारा दबोचे जाने के बाद बचने का उपाय पूछा। पैनलिस्ट ने ताइक्वांडो का प्रदर्शन करते हुए हाथ छुड़ाने के उपाय बताए। समीना परवीन ने पूछा कि तीन-चार लोगों ने रास्ते में पकड़ लें तो कैसे बचें। इसका जवाब ताइक्वांडो विशेषज्ञ प्रियंका ने देते हुए बचाव के टिप्स दिए। उन्होंने पानी बोतल, स्कूल बैग और बालपिन का प्रयोग करने के तरीके बताए।

मनीषा ने पूछा कि सबकुछ जानकारी होने के बाद भी हमारे साथ कुछ घटना हो जाए तो क्या करें। इस पर पैनलिस्ट ने कहा कि संकोच न करें। मां-बाप की मदद लें, पुलिस में रिपोर्ट करें। शिखा सिंह ने पूछा कि अगर कोई एसिड अटैक करे तो खुद को कैसे बचाएं। पैनलिस्ट ने बताया कि आसपास की संदिग्ध चीजों के प्रति सजग रहें। प्रीति जायसवाल ने पूछा कि कई बार रास्ते में वैन या गाड़ी से अपहरण कर लिया जाता है। ऐसे में क्या करें। उन्होंने कहा कि सड़क पर किनारे चलें। हिन्दुस्तान मिशन शक्ति अभियान को शिक्षिका पूनम मद्धेशिया, संजू पाठक ने भी संबोधित किया। ताइक्वांडो खिलाड़ी प्रसिद्धि ने बचाव के उपायों को बताने में अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी प्रियंका का सहयोग किया।

शख्सियतों की सलाह

मुकाबले के लिए आत्मविश्वास है जरूरी : डॉ. पम्मी सिंह

जयपुर में योगा की असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. पम्मी सिंह ने कहा कि सुरक्षा आत्मविश्वास से आएगी। अपना आत्मविश्वास बनाये रखें। मानसिक रूप से मजबूत बनने के लिए योग करें। इससे आपकी याददाश्त भी अच्छी होगी। आप सजग रह सकेंगी।

उत्पीड़न की शिकायत करें महिलाएं : बीनू वर्मा

दीवानी कचहरी की एडवोकेट वीनू वर्मा ने कहा कि महिलाओं के लिए सरकार ने कई कानून बनाये हैं। जरूरत है कि महिलायें अपने खिलाफ होने वाली हिंसा, उत्पीड़न, छेड़छाड़ की आगे बढ़कर शिकायत करें। हेल्पलाइन पर फोन करें।

सजगता से खुद कर सकते हैं अपनी सुरक्षा : प्रियंका

अंतरराष्ट्रीय ताइक्वांडो खिलाड़ी प्रियंका कुमारी ने कहा कि थोड़ी सजगता और थोड़े अभ्यास के साथ अपनी सुरक्षा की जिम्मा हम खुद संभाल सकते हैं। बाल पिन, पानी की बोतल और स्कूल बैग का इसमें प्रयोग कर सकते हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Hindustan Mission Shakti discipline is essential in life do not think it is imposed