फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News हिन्दुस्तान मिशन शक्ति चित्रकूटखेत-खलिहानों से मिली फुर्सत तो शुरु हो जाती चुनावी चर्चाएं

खेत-खलिहानों से मिली फुर्सत तो शुरु हो जाती चुनावी चर्चाएं

चित्रकूट, संवाददाता। लोकसभा चुनाव के मतदान की तिथि नजदीक आते ही अब खेत खलिहानों...

खेत-खलिहानों से मिली फुर्सत तो शुरु हो जाती चुनावी चर्चाएं
हिन्दुस्तान टीम,चित्रकूटSun, 05 May 2024 06:20 PM
ऐप पर पढ़ें

चित्रकूट, संवाददाता।

लोकसभा चुनाव के मतदान की तिथि नजदीक आते ही अब खेत खलिहानों में फुर्सत मिलते ही लोगों के बीच चुनावी चर्चाएं शुरू हो जाती है। गांवो में परचून की दुकानों से लेकर घरो में चौपाले लगना शुरू हो गई है। इन चौपालों के जरिए चुनावी चर्चाओं में एक दूसरे के मन की बात टटोलने को लोग आतुर नजर आ रहे है। जहां पर जातिवादी हवाओ में विकास के मुद्दे गायब हो गए। उम्मीदवारों को लेकर भडास निकाली जा रही है।

जिले में लोकसभा चुनाव का 20 मई को मतदान होना है। मतदान की तिथि नजदीक आते ही लोग उम्मीदवारों की हवा को लेकर चर्चा करने लगे है। गांवो में खेत-खलिहानो के कार्यो में फुर्सत मिलते ही लोग चुनावी चर्चा दौरान एक दूसरे के मन की बात जानने का प्रयास करते है। इन दिनो चुनावी चर्चाएं परचून की दुकानों से लेकर घरो में लगने वाली चौपालो में हो रही है। चुनावी चर्चाओ में राष्ट्रहित के मामले व विकास के मुद्दे पूरी तरह से गुम हो गए है। हर ओर सिर्फ जातिवादी हवा ही चल रही है। जहां पर उम्मीदवारों को लेकर भडास निकाली जा रही है। चुनावी चौपालो में किस बिरादरी के कितने मतदाता है और कौन बिरादरी के मतदाताओं का किस तरफ रूझान है। इन आंकडो के आधार पर पूरे दिन चुनावी चर्चाएं हो रही है। चौपालो में हालत यह है कि जातिवादी हवा में विकास से लेकर अन्य मुद्दे गायब है। रविवार की दोपहर औदहा गांव में एक दुकान पर मनोज सिंह, बाबूलाल, जागेश्वर, श्रीचंद्र कुशवाहा आदि लोग आपस में चुनावी चर्चाओं पर मसगूल नजर आए। सभी लोग अपने-अपने तर्क देकर एक-दूसरे को चुनावी हवाओं पर जानकारी भी देते रहे। इनके बीच सोशल मीडिया पर चलने वाले तरह-तरह के संदेशों को भी लेकर चर्चाएं रही।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।