DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जरूरी है विविधता बनाए रखना: फातिमा सना शेख

फिल्म ‘दंगल’ से चर्चा में आई अभिनेत्री फातिमा सना शेख अलग-अलग तरह की भूमिकाएं निभाने के लिए प्रयासरत रही हैं। जहां ‘दंगल’ में उन्होंने एक पहलवान की भूमिका निभाई थी, वहीं साल 2018 की फिल्म ‘ठग्स ऑफ हिन्दोस्तान’ में उन्होंने एक योद्धा का किरदार निभाया। इन दोनों ही भूमिकाओं के लिए उन्होंने जम कर मेहनत की थी। 

27 वर्षीया अभिनेत्री फातिमा का कहना है कि किसी किरदार के लिए तैयारी करने में उन्हें काफी मजा आता है। बकौल फातिमा, ‘एक एक्टर के तौर पर आपके लिए जो सबसे बड़ी बात होती है, वह यह है कि विविध किस्म की भूमिकाएं निभाने को मिलती हैं। लोगों को यह विश्वास दिला पाना ही अपने आप में एक उपलब्धि है कि आप इतनी तरह की भूमिकाओं के साथ न्याय कर सकते हैं। मैं बहुत खुशकिस्मत रही कि दंगल जैसी फिल्म मेरी झोली में गिरी। इसने बॉलीवुड में जगह बनाने में मेरी बहुत मदद की।’ 

'दिल चाहता है' के पूरे हुए 18 साल, फैंस ने पूछा क्या बनेगा सीक्वल? फरहान अख्तर ने दिया ये जवाब

Video: Priyanka Chopra के ‘जय हिंद’ ट्वीट पर पाकिस्तानी महिला ने बुलाया उन्हें ‘Hypocrite’, बदले में मिला ये मुंहतोड़ जवाब

फातिमा यह भी बताती हैं कि बॉलीवुड में कदम रखने वाले ज्यादातर नए अभिनेता-अभिनेत्रियों के पास विकल्प ही नहीं होते हैं। वह कहती हैं, ‘एक नवागंतुक के तौर पर आपको चुनने का मौका नहीं मिलता है। अगर मेरी पहली फिल्म कोई और होती, तो भी मैं उसमें काम कर लेती। पर मुझे इस बात की खुशी है कि मेरे करियर का आगाज इतने दमदार तरीके से हुआ। इस किरदार को निभाने की तैयारियों के लिए मुझे न सिर्फ अपने वजन पर काम करना पड़ा, बल्कि मानसिक रूप से भी खुद को तैयार करना पड़ा। ठग्स में जाफिरा का किरदार भी कुछ ऐसा ही था। जाफिरा बेहद मजबूत इरादों वाली लड़की थी, जिसे कई तरह के कौशल आते थे।’ 

फातिमा की अगली फिल्म अनुराग बसु की है। यह एक छोटे शहर में रची-बसी कहानी है, जिसमें फातिमा एक बार फिर नए अवतार में नजर आएंगी। वह कहती हैं, ‘दादा (अनुराग बसु) की फिल्म में मेरा किरदार काफी अलग है। इसे निभाने के लिए मैं वाकई बहुत उत्साहित हूं।’ फातिमा ‘भूत पुलिस’ नामक हॉरर कॉमेडी फिल्म में भी नजर आएंगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:it is important that we should maintain diverseness in our work says fatima sana sheikh