DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शाहरुख खान को लेकर गुलशन ग्रोवर ने कही ये बात

जब वह बच्चे थे, तो लोगों के घरों के दरवाजे खटखटाकर डिटर्जेंट बेचने का काम करते थे। उस वक्त भी उनके मन के किसी कोने में यह बात थी कि एक दिन वह जरूर कुछ न कुछ बड़ा करेंगे। और जब वह बड़े हुए, तो सारा बॉलीवुड उन्हें ‘बैड मैन’ के नाम से जानने लगा। इतना ही नहीं, अपनी अदाकारी के जलवे उन्होंने हॉलीवुड में भी बिखेरे। मिलिये एक्टर गुलशन ग्रोवर से, जिन्होंने असल मायनों में फर्श से अर्श तक का सफर तय किया है। 

गुलशन की जिंदगी की पूरी कहानी उनकी हालिया रिलीज किताब ‘बैड मैन’ में दर्ज है। एक मुलाकात में उन्होंने बताया कि इस किताब में वह एक चीज और जोड़ना चाहते थे, पर वह रह गई। वह थी एक कहानी, जो यह बताती थी कि किस तरह गुलशन ग्रोवर का हॉलीवुड में काम करने का सपना बॉलीवुड के किंग खान शाहरुख की वजह से साकार हुआ! 

63 वर्षीय गुलशन याद करते हैं, ‘बात तब की है, जब शाहरुख और मैं निर्देशक अजीज मिर्जा की फिल्म ‘यस बॉस’ (1997) में काम कर रहे थे। उसी फिल्म की शूटिंग के वक्त मेरा चयन हॉलीवुड फिल्म ‘दि सेकेंड जंगल बुक: मोगली एंड बल्लू’ के लिए हुआ। इसमें मुझे मुख्य विलेन का किरदार निभाना था। इसे स्वीकार करने या न करने का जिम्मा मुझ पर छोड़ दिया गया था। ऐसा समझ लीजिये कि इस प्रस्ताव को स्वीकार करने के लिए मेरे पास एक आखिरी मौका था। मैं भयंकर उहापोह में रहा। मन में आया कि न बोल दूं। न बोलने से ठीक पहले मैं शाहरुख खान के पास गया और उन्हें फिल्म की स्क्रिप्ट पढ़ने को दी। उसे पढ़ते ही शाहरुख ने मुझसे कहा, तुरंत फ्लाइट पकड़ो और जाओ।’ 

हालांकि फिल्म ‘यस बॉस’ की शूटिंग बीच में छोड़ने के परिणामों के बारे में सोच-सोचकर अब भी गुलशन की हालत खराब हो रही थी। पर यहां किंग खान ने एक बार और उनकी मदद की। वह बताते हैं, ‘मुझे लगता था कि अगर मैंने फिल्म की शूटिंग अधूरी छोड़ी, तो निर्देशक मुझ पर केस कर देगा या मेरा मेहनताना नहीं देगा। पर शाहरुख ने कहा, ‘तू जा, अगर तेरे पास किसी का फोन भी आए, तो मुझे बताना। मैं यहां सब कुछ संभाल लूंगा। जाओ दोस्त, यह हॉलीवुड फिल्म साइन करो और हमें गौरवान्वित करो।’ आगे गुलशन कहते हैं, ‘यही कारण है कि मैं अपने हॉलीवुड डेब्यू की वजह शाहरुख को मानता हूं। उन्होंने ही मेरे सपनों को पंख दिए। अगर उस रात वह मेरे पीछे नहीं पड़े होते तो यह कभी संभव नहीं हो पाया होता।’ 

डेजी शाह बोलीं- एक गुजराती फिल्म तो बनती है

 आज निर्देशकों पर रहती है सबकी नजर: अश्विनी अय्यर तिवारी

हालांकि फिल्म साइन करने के लिए अमेरिका पहुंचने पर उनके सामने एक और समस्या खड़ी हो गई थी, क्योंकि उस रोल के लिए किसी और को साइन किया जा चुका था। पर दो दिन उसका काम देखने के बाद फिल्म के निर्देशक ने तय कर लिया कि मुख्य विलेन गुलशन ही होंगे।  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:gulshan grover talk about shah rukh khan