DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फ्रेशर्स पार्टी ऐसी, जो याद रहे ताउम्र

freshers have fun during the fresh on campus jam session

इन दिनों जहां फ्रेशर्स यूनिवर्सिटी की जिंदगी का मजा लेने के लिए उत्साहित नजर आ रहे हैं, वहीं उनके सीनियर आयोजक की भूमिका में हैं। हालांकि, औपचारिक फ्रेशर्स पार्टियों में मौज-मस्ती के साथ एक अनुशासन भी बनाए रखना होता है। लेकिन इन दिनों अनौपचारिक फ्रेशर्स पार्टियां ज्यादा चलन में हैं। इस किस्म की पार्टियों में तकल्लुफ की कोई जगह नहीं होती। होता है तो सिर्फ मौज, मस्ती और धमाल। इस साल फ्रेशर्स के लिए क्या खास इंतजाम किए जा रहे हैं,  इसको लेकर हमने कुछ सीनियर छात्रों से बात की। 

सेलेब्स थीम और डीजे नाइट

जीसस एंड मैरी कॉलेज से बीकॉम ऑनर्स कर रहीं अहाना सागर कहती हैं, ‘फ्रेशर्स के बारे में बात करना हमेशा उत्साहित करता है, क्योंकि फ्रेशर्स पार्टी के लिए जिस थीम के बारे में मैंने सोचा है, वह है सेलिब्रिटी पैरोडी। हमने जूनियर्स को कहा है कि वे सेलिब्रिटी की तरह तैयार होकर आएं। एमिटी यूनिवर्सिटी की लॉ की छात्रा तेजस्वी ठाकुर कहती हैं, ‘हमारी फ्रेशर्स पार्टी की रेट्रो नाइट थीम है। इसके साथ ही कई आकर्षक अवॉर्ड, जैसे सबसे बेहतर फ्रेशर ड्रेस और इसके अलावा भी कई सारे मनोरंजक कार्यक्रम होंगे। साथ ही यहां डीजे नाइट के साथ बेहतरीन व्यंजन चखने का अवसर भी मिलेगा। जहां तक स्थान की बात है, तो मुझे छत पसंद है, जिसे एक दिन के लिए बुक करवाना होगा।’

ग्लो-इन-दि-डार्क

हिंदू कॉलेज के फिलॉसफी के तीसरे वर्ष के छात्र जस बत्रा अनौपचारिक फ्रेशर्स पार्टी को हाउस पार्टी में बदलने के पक्ष में हैं। वह कहते हैं, ‘मेरा मानना है कि पार्टी को क्लब की बजाय एक ऐसे स्थान पर करना चाहिए, जहां सब सहज महसूस कर सकें। मैं चाहूंगा कि इस बार की थीम ‘ग्लो-इन-दि-डार्क’ हो। 
जस बत्रा, कॉलेज की क्रिकेट टीम के कप्तान भी हैं। वह आगे कहते हैं, ‘मुझे लगता है कि दूसरे वर्ष के छात्रों को फ्रेशर्स के साथ बात करनी चाहिए और उनके साथ घुलना-मिलना चाहिए।’

 खेल-खेल में दोस्तों संग मजा 

सिम्बॉयसिस नोएडा की दूसरे वर्ष की छात्रा इनायत नैन संगानेरिया कहती हैं, ‘अनौपचारिक फ्रेशर्स पार्टी कॉलेज के सबसे बेहतरीन कार्यक्रमों में से एक होती है। वह इतनी वाइल्ड होती है कि मजा ही आ जाता हैं। लाउड म्यूजिक के साथ पूल पार्टी और ड्रिंक्स से भरे हुए लाल रंग के कप। बीयर पॉन्ग, ट्रुथ एंड डेयर जैसे गेम खेले जाते हैं।’

एक-दूसरे को जानने का मौका

गार्गी कॉलेज से इकोनॉमिक्स ऑनर्स करने वाली तनीशा मानती हैं कि अनौपचारिक फ्रेशर्स पार्टी में थीम से अलग भी काफी कुछ होता है। यह जूनियर्स और सीनियर्स के बीच बेहतर रिश्ता बनाने में मदद करती है। वह कहती हैं, ‘लाउड म्यूजिक और डांस काफी मजेदार होता है, पर मुझे लगता है कि फ्रेशर्स पार्टी एक-दूसरे को जानने और समझने के लिए रखी जाती है। इस दौरान हम सब लोग एक दूसरे के सामने अपने विचार रख सकते हैं। इसलिए थीम से अधिक हमें एक बेहतर माहौल बनाने पर जोर देना चाहिए।’  

मिल-जुलकर बढ़ाएं दोस्ती 

दिल्ली टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी से बीबीए (फाइनेंस) कर रहे प्रणव बागला कहते हैं, ‘अनौपचारिक पार्टी एक ऐसी पार्टी है, जहां छात्रों को एक-दूसरे के साथ मिलने-जुलने और सीनियर्स व क्लास के अन्य लोगों के साथ बातचीत करने का अवसर मिलता है। इसलिए मैं समझता हूं कि यह ऐसी जगह पर हो, जहां लोग इसका आनंद उठा सकें। जहां तक पार्टी के लिए थीम की बात है, तो मुझे लगता है कि इसके लिए कोई थीम नहीं होनी चाहिए। लड़के और लड़कियों को वह पहनना चाहिए, जिसमें वह सहज महसूस करें।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Freshers party that will be remembered for life