ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News हिमाचल प्रदेशशिमला में भरभराकर गिरा पांच मंजिला मकान, खतरे में धामी डिग्री कॉलेज; सामने आया VIDEO

शिमला में भरभराकर गिरा पांच मंजिला मकान, खतरे में धामी डिग्री कॉलेज; सामने आया VIDEO

शिमला के उपायुक्त आदित्य नेगी ने बताया कि जमींदोज हुए पांच मंजिला भवन में पीजी चल रहा था। इस भवन में लॉ कॉलेज के छात्र रहते थे। इसके ध्वस्त होने से धामी डिग्री कॉलेज की इमारत भी खतरे की जद मे आ गई है।

शिमला में भरभराकर गिरा पांच मंजिला मकान, खतरे में धामी डिग्री कॉलेज; सामने आया VIDEO
Aditi Sharmaलाइव हिन्दुस्तान,शिमलाSat, 20 Jan 2024 02:33 PM
ऐप पर पढ़ें

आपदा की मार झेल चुके हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में सर्दियों के शुष्क मौसम में भूस्खलन की एक बड़ी घटना सामने आई है। शिमला ग्रामीण क्षेत्र के तहत ग्राम पंचायत घंडल में एक पांच मंजिला मकान पलभर में जमींदोज हो गया।  शिमला-बिलासपुर नेशनल हाइवे के किनारे सोलह मील पर बना यह भवन शनिवार को दिन में ताश के पत्तों की तरह भरभराकर धराशायी हो गया। हालांकि इस घटना में किसी भी तरह के जान माल के नुकसान की खबर नहीं है।

इस मकान में लॉ कॉलेज के छात्र रहते थे। एक हफ्ता पहले दरारों के कारण इस भवन को खाली करवा दिया गया था। इसके ध्वस्त होने से इससे सटी धामी डिग्री कॉलेज की इमारत भी खतरे की जद में आ गई है। कॉलेज भवन में बड़ी दरारें पड़ गई हैं। धराशायी हुआ पांच मंजिला भवन का मालिक राजकुमार शर्मा है।

क्या है वजह? 

इस भवन के गिरने की वजह जमीन की कटिंग बताई जा रही है। दरअसल जमीदोंज हुए भवन से सटी जमीन के प्लॉट की कटिंग का काम चल रहा है। स्थानीय लोगों की मानें तो प्लॉट के कटिंग के बाद राजकुमार के पांच मंजिला भवन में दरारें आने लगीं थीं और शनिवार को यह भवन ढह गया। भवन के ढहने के बाद बालूगंज थाना क्षेत्र की टीम मौके पर पहुंची और हालात का जायजा लिया। 

 

शिमला के उपायुक्त आदित्य नेगी ने बताया कि जमींदोज हुए पांच मंजिला भवन में पीजी चल रहा था। इस भवन में लॉ कॉलेज के छात्र रहते थे। भवन में दरार आने पर इसे पूरी तरह से खाली करवा दिया गया था। उन्होंने कहा कि इस घटना में कोई नुकसान नहीं हुआ है।  बता दें कि एनएच से सटे इस क्षेत्र में कई बहुमंजिला भवन बने हैं। नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी का परिसर भी इसी जगह है। दो साल पहले मानसून सीजन के दौरान यहां नेशनल हाइवे का लगभग 180 फुट हिस्सा टूट गया था। इससे शिमला का राज्य के आठ जिलों से सम्पर्क कट गया था। नेशनल हाइवे के टूटे हिस्से पर बैली ब्रिज बना है।

रिपोर्ट- उज्जवल शर्मा

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें