ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News हिमाचल प्रदेशKangana Ranaut : कंगना रनौत ने मंत्री विक्रमादित्य सिंह को कहा 'छोटा पप्पू', कांग्रेस नेता ने ऐसे दिया जवाब

Kangana Ranaut : कंगना रनौत ने मंत्री विक्रमादित्य सिंह को कहा 'छोटा पप्पू', कांग्रेस नेता ने ऐसे दिया जवाब

कंगना रनौत एक बार फिर सुर्खियों में हैं। हिमाचल प्रदेश की मंडी सीट से भाजपा उम्मीदवार कंगना ने गुरुवार को एक चुनावी सभा में बोलते हुए प्रदेश के मंत्री विक्रमादित्य सिंह को 'छोटा पप्पू' कहकर ललकारा है।

Kangana Ranaut : कंगना रनौत ने मंत्री विक्रमादित्य सिंह को कहा 'छोटा पप्पू', कांग्रेस नेता ने ऐसे दिया जवाब
Praveen Sharmaशिमला। भाषाFri, 12 Apr 2024 12:14 PM
ऐप पर पढ़ें

दमदार एक्टिंग के अलावा अक्सर अपने विवादित बयानों से चर्चा में रहने वाली बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत एक बार फिर सुर्खियों में हैं। हिमाचल प्रदेश की मंडी सीट से भाजपा उम्मीदवार कंगना ने गुरुवार को एक चुनावी सभा में बोलते हुए प्रदेश के मंत्री विक्रमादित्य सिंह को 'छोटा पप्पू' कहकर ललकारा है। कंगना ने मंडी संसदीय सीट के अंतर्गत मनाली विधानसभा क्षेत्र में एक रैली को संबोधित करते हुए विक्रमादित्य पर जमकर जुबानी तीर चलाए। कंगना रनौत ने विक्रमादित्य सिंह से कहा, “ये तुम्हारे बाप-दादा की रियासत नहीं है कि तुम मुझे डरा-धमकाकर वापस भेज दोगे।’’

भाजपा उम्मीदवार कंगना ने इतने पर ही नहीं रुकीं। उन्होंने कांग्रेस नेता राहुल गांधी और विक्रमादित्य सिंह को 'पप्पू' कहकर भी संबोधित दिया। कंगना ने कहा कि दिल्ली में एक 'बड़ा पप्पू' है और हिमाचल में 'छोटा पप्पू', जो कहता है कि कंगना गोमांस खाती हैं। अभिनेत्री ने पूछा कि वह उनके गोमांस खाने का सबूत क्यों नहीं दिखा रहे हैं। उन्होंने कहा कि मैं आयुर्वेदिक और योगिक जीवनशैली का पालन करती हूं। कंगना ने विक्रमादित्य को ‘एक नंबर का झूठा’ और ‘पलटूबाज’ करार देते हुए आश्चर्य जताया कि जब 'बड़ा पप्पू' ही 'नारी शक्ति' को नष्ट करने की बात करता है तो 'छोटे पप्पू' से क्या उम्मीद की जा सकती है। विक्रमादित्य सिंह पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत वीरभद्र सिंह और प्रदेश कांग्रेस प्रमुख प्रतिभा सिंह के बेटे हैं।

हिमाचल में अब से पहले ऐसा नहीं हुआ : विक्रमादित्य

वहीं, विक्रमादित्य सिंह ने कंगना के बयान पर सधे हुए लहजे में प्रतिक्रिया दी है। विक्रमादित्य ने कहा कि उनकी बड़ी बहन कंगना रनौत ने आज उनके लिए जिस तरह की भाषा और शब्दों का इस्तेमाल किया है, कांग्रेस और हिमाचल प्रदेश ने कभी भी देवभूमि हिमाचल में इस्तेमाल नहीं किया है। उन्होंने कहा कि मैं कहना चाहूंगा कि ऐसी भाषा का उपयोग करने के बजाय, बेहतर होता अगर वह मनाली के मुद्दों के बारे में बात करतीं। उन्होंने पूछा कि जब मनाली में आपदा आई थीं तब वो कहां थीं। उन्होंने कहा कि आपदा के समय मैं ‘ग्राउंड जीरो’ पर मौजूद था। उन्होंने क्षेत्र में सामान्य स्थिति बहाल करने के लिए किए गए कार्यों के बारे में विस्तार से बताया।  

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें