ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News हिमाचल प्रदेशहिमाचल में कड़ाके की ठंड, 7 शहरों में माइनस में पारा, शिमला में थोड़ी राहत; इस दिन से बर्फबारी के आसार

हिमाचल में कड़ाके की ठंड, 7 शहरों में माइनस में पारा, शिमला में थोड़ी राहत; इस दिन से बर्फबारी के आसार

हिमाचल प्रदेश में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। राज्य के अधिकांश भागों के न्यूनतम तापमान में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है। पिछले 24 घंटों में राज्य का औसत न्यूनतम पारा 0.7 डिग्री लुढ़का है।

हिमाचल में कड़ाके की ठंड, 7 शहरों में माइनस में पारा, शिमला में थोड़ी राहत; इस दिन से बर्फबारी के आसार
Abhishek Mishraलाइव हिन्दुस्तान,शिमलाMon, 15 Jan 2024 12:10 PM
ऐप पर पढ़ें

Himachal Weather: हिमाचल प्रदेश में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। राज्य के अधिकांश भागों के न्यूनतम तापमान में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है। पिछले 24 घंटों में राज्य का औसत न्यूनतम पारा 0.7 डिग्री लुढ़का है। ऊना और मंडी सहित सात शहरों का न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे दर्ज किया गया। वहीं पहाड़ों की रानी शिमला में रात का पारा लुढ़कने की बजाय बढ़ रहा है और आलम यह है कि शिमला की रातें मैदानी इलाकों से गर्म दर्ज की जा रही हैं।

रविवार की रात शिमला का न्यूनतम तापमान 6.4 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया, जो सामान्य से 3.7 डिग्री अधिक है। राज्य के मैदानी इलाकों की रातें शिमला से अधिक ठंडी हैं। मैदानों में ऊना और सुंदरनगर का पारा फ्रीजिंग पॉइंट से नीचे चला गया है।

इस विंटर सीजन में शिमला में सबसे कम न्यूनतम तापमान बीते नौ जनवरी को 2.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। हालांकि इसके बाद शिमला के न्यूनतम तापमान में लगातार बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है।

शिमला में जहां सर्दी का असर कम हुआ है, वहीं राज्य के मैदानी इलाकों में दोपहर तक लोगों को घने कोहरे का सामना करना पड़ रहा है। 

मौसम विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक लाहौल-स्पीति जिला का कुकुमसेरी सबसे ठंडा स्थल रहा, जहां न्यूनतम तापमान -9.4 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड हुआ। इसके अलावा केलांग में -4.6, ऊना में -1.8, मंडी में -1.5, सुंदरनगर में -0.7, बरठीं में -0.6 व कल्पा में -0.2 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड हुआ है। अन्य शहरों के न्यूनतम तापमान पर नज़र डालें तो भुंतर में 0.2, धर्मशाला में 6.2, नाहन में 6.1, पालमपुर में 3, सोलन में 0.4, मनाली में 1.2, कांगड़ा में 3.8, चम्बा में 2.4, डल्हौजी में 6.4, जुब्बड़हट्टी में 5.2, कुफरी में 5.9, नारकंडा में 4, भरमौर में 5.2, रिकांगपिओ में 2.1, धौलाकुंआ में 3.4, समधो में 3.3 और सराहन में 3.5 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया है। 

16 व 17 जनवरी को पहाड़ी इलाकों में बर्फ गिरने के आसार

राज्य के उच्च पर्वतीय इलाकों में 16 व 17 जनवरी को बर्फबारी की संभावना जताई गई है। इस दौरान लाहौल-स्पीति, किन्नौर, कुल्लू, चंबा व शिमला जिलों के अधिक उंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी का नजारा देखने को मिल सकता है। हालांकि इस अवधि में राज्य के मैदानी भागों में मौसम साफ रहेगा। 18 व 19 जनवरी को भी पूरे प्रदेश में मौसम के साफ रहने का अनुमान है।

बता दें, इस विंटर सीजन में प्रदेश के पर्वतीय क्षेत्रों में कम बर्फबारी हुई है। हिल्स स्टेशनों शिमला और मनाली में बर्फबरी के लिए सैलानियों को तरसना पड़ रहा है। यह लगातार दूसरा विंटर सीजन है जब शिमला शहर में बर्फबारी नहीं हुई है। मौसम विभाग की मानें तो प्रदेश में जनवरी माह में सामान्य से 100 फीसदी कम बर्फबारी हुई है। सूबे में ऐसी स्थिति 17 वर्ष बाद आई है।

राज्य में सूखे की स्थिति, पीली पड़ रही गेहूं की फसल

कई दिनों से बादलों के नहीं बरसने से राज्य में सूखे की स्थिति पनप रही है। इससे प्रदेश के मैदानी भागों में गेहूं की फसल पीली पड़नी शुरू हो गई है। अगर अगले कुछ दिनों में बारिश नहीं हुई, तो गेहूं की 10 से 15 फीसदी फसल के खराब होने का अंदेशा है। सूखे का आम व लीची की फ्लॉवरिंग पर भी प्रतिकूल असर पड़ रहा है। वहीं ऊपरी शिमला सहित सेब बाहुल्य इलाकों में बर्फ नहीं गिरने से सेब को चिलिंग आवर नहीं मिल पा रहा है। इससे सेब का उत्पादन प्रभावित हो सकता है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें