ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News हिमाचल प्रदेशबदल गया हिमाचल प्रदेश का मौसम, इन जिलों होगी झमाझम बारिश; बर्फबारी भी हुई

बदल गया हिमाचल प्रदेश का मौसम, इन जिलों होगी झमाझम बारिश; बर्फबारी भी हुई

भीषण गर्मी के बीच हिमाचल प्रदेश का मौसम बदल गया है। गुरुवार को हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में बारिश दर्ज की गई है। मौसम विभाग ने इन जिलों में बारिश को लेकर येलो अलर्ट जारी किया है।

बदल गया हिमाचल प्रदेश का मौसम, इन जिलों होगी झमाझम बारिश; बर्फबारी भी हुई
Mohammad Azamलाइव हिन्दुस्तान,शिमलाThu, 30 May 2024 07:12 PM
ऐप पर पढ़ें

हिमाचल प्रदेश में पिछले एक हफते से पड़ रही प्रचंड गर्मी के बीच गुरूवार को हिमाचल प्रदेश का मौसम बदल गया। दिन में शिमला के मौसम ने अचानक करवट ली और कुछ देर हुई झमाझम बारिश से मौसम कूल-कूल हो गया। इस दौरान हल्की ओलावृष्टि भी हुई। इस बारिश ने शिमला को तपती गर्मी से निजात दिलाई है। बादलों के बरसने से यहां घूमने आए सैलानी भी खुश हो गए। इससे पहले बुधवार को शिमला में अधिकतम तापमान 31.8 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया था। शिमला में पिछले एक दशक में पहली बार तापमान इस स्तर तक गया है। मौसम विभाग ने अगले तीन दिन शिमला सहित राज्य के अन्य हिस्सों में अंधड़ के साथ तेज बारिश का येलो अलर्ट जारी किया है। इस दौरान 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से हवाएं चलने का अंदेशा जताया गया है।

इस दौरान शिमला में बारश के साथ ही हिमाचल प्रदेश के मनाली के रोहतांग में ताजा बर्फबारी देखने को मिली है। इससे लोगों को प्रदेश में पड़ रही भीषण गर्मी से राहत मिली है। मौसम विभाग ने आने वाले दिनों बारिश के साथ ही बर्फबारी का अपडेट जारी किया है।

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक सुरेंद्र पाल ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से अब मौसम में बदलाव आने के आसार हैं। हालांकि विक्षोभ का ज्यादा असर राज्य के मध्यवर्ती व पहाड़ी इलाकों में देखने को मिलेगा। मैदानी इलाकों में इसका अधिक प्रभाव नजर नहीं आएगा। उन्होंने कहा कि 31 मई से दो जून तक राज्य के अधिकतर हिस्सों में बादलों के बरसने के आसार हैं। इस दौरान कुछ जगह तुफान चलने की भी आशंका है। 31 मई को मैदानी इलाकों को छोड़कर अन्य हिस्सों में बारिश होगी। पहली जून को मैदानी इलाकों सहित समूचे प्रदेश में मौसम खराब रहेगा। इस दिन मैदानी क्षेत्रों में बादलों के बरसने की संभावना बनी हुई है, जिससे लोगों को भीषण गर्मी से कुछ राहत मिल सकती है। तीन से पांच जून तक लाहौल-स्पीति, किन्नौर, कुल्लू और चंबा के उच्च पर्वतीय क्षेत्रों को छोड़कर शेष जिलों में मौसम साफ रहेगा

लू की चपेट में 9 जिले
उन्होंने कहा कि बीते 24 घंटों के दौरान नौ जिलों में लू का प्रभाव रहा। इनमें मंडी, बिलासपुर, हमीरपुर, उना और कांगड़ा जिलों में अति भीषण गर्मी का प्रकोप रहा, जबकि कुल्लू, मंडी, शिमला और सिरमौर जिलों में भीषण गर्मी रही। उन्होंने कहा कि मई महीना सामान्य से अधिक गर्म रहा और इस महीने के ज्यादातर दिन मैदानी इलाकों में अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस और पहाड़ी इलाकों में 30 डिग्री सेल्सियस से ऊपर दर्ज किया गया।

हिल स्टेशनों शिमला और मनाली की रातें मैदानों की तरह गर्म
उन्होंने कहा कि राज्य का न्यूनतम तापमान भी सामान्य से अधिक दर्ज किया जा रहा है। खास बात यह है कि अमूमन ठंडे रहने वाले हिल्स स्टेशनों की रातें भी मैदानी की तर्ज पर गर्म रह रही हैं। गुरूवार को शिमला का न्यूनतम तापमान सामान्य से 3 डिग्री और मनाली का न्यूनतम तापमान सामान्य से 7 डिग्री सेल्सियस ज्यादा दर्ज किया गया। शिमला में न्यूनतम तापमान 18.4 डिग्री, सुंदरनगर में 22.1 डिग्री, भुंतर में 18.4 डिग्री, कल्पा में 11 डिग्री, धर्मशाला में 24.4 डिग्री, उना में 24.8 डिग्री, नाहन में 25.1 डिग्री, केलांग में 6.6 डिग्री, पालमपुर में 23 डिग्री, सोलन में 21.6 डिग्री, मनाली में 18.5 डिग्री, कांगड़ा में 26 डिग्री, मंडी में 22.3 डिग्री, बिलासपुर में 28.8 डिग्री, हमीरपुर में 25.2 डिग्री, चंबा में 20.3 डिग्री, डल्हौजी में 18.5 डिग्री, जुब्बड़हट्टी में 23.6 डिग्री, कुफरी में 16.6 डिग्री, कुकुमसेरी में 6.4 डिग्री, नारकंडा में 12.7 डिग्री, भरमौर में 17.6 डिग्री, रिकांगपिओ में 15.2 डिग्री, सियोबाग में 17.4 डिग्री, धौलाकूआं में 26.4 डिग्री, बरठीं में 24.9 डिग्री, पांवटा साहिब में 35 डिग्री और सराहन में 16.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

 

(रिपोर्ट : यूके शर्मा)