ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News हिमाचल प्रदेशहिमाचल प्रदेश पर्यटन को बड़ा झटका, तारादेवी से आगे ट्रेन सेवा पर लगी रोक

हिमाचल प्रदेश पर्यटन को बड़ा झटका, तारादेवी से आगे ट्रेन सेवा पर लगी रोक

हिमाचल प्रदेश पर्यटन उद्योग को बड़ा झटका लगा है। पिछले साल आई भीषण तबाही को देखते हुए एहतियाती उपाय के तौर पर शिमला-कालका रेलवे लाइन पर ट्रेन सेवा को शनिवार को तारादेवी से आगे रोक दिया गया है।

हिमाचल प्रदेश पर्यटन को बड़ा झटका, तारादेवी से आगे ट्रेन सेवा पर लगी रोक
shimla
Mohammad Azamभाषा,शिमलाSat, 22 Jun 2024 08:36 PM
ऐप पर पढ़ें

पिछले साल मॉनसून के दौरान एक रेलवे पुल के बह जाने के बाद एहतियाती उपाय के तौर पर शिमला-कालका रेलवे लाइन पर ट्रेन सेवा को शनिवार को तारादेवी से आगे रोक दिया गया है। रेलवे अधिकारियों ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि सात में से चार ट्रेन पर रोक लगा दी गई है, जबकि दो ट्रेन तारादेवी तक और एक कंडाघाट तक चल रही है।

पर्यटन से जुड़े हितधारकों के अनुसार, ट्रेन पर रोक लगाए जाने से शिमला के पर्यटन व्यवसाय को झटका लगा है क्योंकि यात्री गर्मी के मौसम में पहाड़ों की ओर उमड़ रहे हैं। शिमला होटल एवं पर्यटन हितधारक संघ के अध्यक्ष एम के सेठ ने कहा कि शिमला में पर्यटकों का स्वागत है और चिंता की कोई बात नहीं है, क्योंकि शिमला और तारादेवी रेलवे स्टेशन के बीच की दूरी मात्र 11 किमी है। स्टेशन मुख्य सड़क के समीप स्थित है और हम परिवहन विभाग से यात्रियों की सुविधा के लिए तारादेवी से बस शुरू करने का अनुरोध करेंगे।

पिछले साल जुलाई और अगस्त में भारी बारिश के कारण रेल सेवाएं बाधित हुई थीं। जुलाई में 20 से 25 जगहों पर पटरियों को भारी नुकसान पहुंचा था। पिछले वर्ष अगस्त में भूस्खलन के कारण 50 मीटर लंबा पुल बह गया था।

बता दें कि हिमाचल प्रदेश देश के सबसे ज्यादा टूरिस्ट वाले प्रदेशों में गिना जाता है। इसकी वादियां पूरी दुनिया से पर्यटकों को आकर्षित करती हैं। इससे प्रदेश को हर साल करोड़ों रुपयों का राजस्व भी प्राप्त होता है। सबसे ज्यादा पर्यटक शिमला, मनाली, मसूरी आदि जगहों पर घूमने के लिए जाते हैं। हालांकि, मॉनसून के मौसम में यहां जाना खतरों से खाली नहीं होता है। बारिश के कारण पहाड़ों के धंसने और नदियों में आने वाली बाढ़ के कारण हर साल जान माल का नुकसान उठाना पड़ता है। पिछले साल आई भीषण त्रासदी ने हिमाचल को अस्त-व्यस्त कर दिया था। यही कारण है कि ट्रेन के आवागमन पर रोक लगा दी गई है।