ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News हिमाचल प्रदेशहिमाचल प्रदेश में दिवाली पर रातभर नहीं जला सकेंगे पटाखे, सरकार ने तय की टाइमिंग

हिमाचल प्रदेश में दिवाली पर रातभर नहीं जला सकेंगे पटाखे, सरकार ने तय की टाइमिंग

हिमाचल प्रदेश सरकार ने दिवाली के मौके पर पटाखे जलाने की टाइमिंग तय कर दी है। सीएम सुखविंदर सिंह सुक्खू की सरकार ने लोगों को केवल ग्रीन पटाखे जलाने की छूट दी है। जानें कब से कब तक जला सकेंगे पटाखे...

हिमाचल प्रदेश में दिवाली पर रातभर नहीं जला सकेंगे पटाखे, सरकार ने तय की टाइमिंग
Krishna Singhलाइव हिंदुस्तान,शिमलाSun, 12 Nov 2023 05:04 PM
ऐप पर पढ़ें

Timing for Firecrackers on Diwali in Himachal Pradesh: हिमाचल प्रदेश में ध्वनि और वायु प्रदूषण की रोकथाम के लिए दिवाली पर पटाखे जलाने की अवधि रात आठ बजे से दस बजे तक दो घंटे के लिए सीमित कर दी गई है। इस अवधि में भी लोगों को केवल हरित पटाखे जलाने की इजाजत होगी। हिमाचल में भले ही बड़ी संख्या में लोगों ने स्वेच्छा से आतिशबाजी नहीं करने का फैसला किया है, जिससे पटाखों की बिक्री कम हो गई है, लेकिन जिन कारोबारियों ने पारंपरिक पटाखों का बड़े पैमाने पर भंडारण किया था, वे आखिरी समय में लगाए गए इस प्रतिबंध से नाखुश हैं।

शिमला के उपायुक्त की ओर से जारी आदेश के मुताबिक, दिवाली पर केवल 'ग्रीन पटाखे' जलाने की अनुमति होगी। पर्यावरण, विज्ञान प्रौद्योगिकी एवं जलवायु परिवर्तन विभाग ने रात आठ बजे से दस बजे के बीच केवल हरित पटाखे जलाने की अनुमति दी है।

पारंपरिक पटाखों पर प्रतिबंध लगाने के राज्य सरकार के फैसले की आलोचना करते हुए एक दुकानदार ने कहा कि सरकार को कम से कम एक महीने पहले पटाखों के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगाने के आदेश जारी करने चाहिए थे। पटाखों का निर्माण पूरी तरह से बंद कर देना चाहिए था। 

इस बीच प्रधानमंत्री मोदी ने रविवार को हिमाचल प्रदेश के लेप्चा में सुरक्षाबलों के साथ दिवाली मनाई। पीएम मोदी ने सुरक्षा बलों के टूट साहस की सराहना करते हुए कहा कि जब तक देश की सीमाओं पर बहादुर जवान खड़े हैं, तब तक भारत सुरक्षित है। भारत रक्षा क्षेत्र में तेजी से एक बड़ी वैश्विक ताकत के रूप में उभर रहा है और इसके सुरक्षा बलों की क्षमताएं लगातार बढ़ रही हैं। दुनिया की परिस्थितियां ऐसी हैं कि भारत से उम्मीदें लगातार बढ़ रही हैं। ऐसे महत्वपूर्ण समय में यह जरूरी है कि भारत की सीमाएं सुरक्षित रहें और देश में शांति का माहौल कायम रहे।