DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   हिमाचल प्रदेश  ›  हिमाचल घूमने की योजना बना रहें लोगों के लिए खुशखबरी, सरकार दे रही पर्यटकों को ई-पास, यहां करें अप्लाई
हिमाचल प्रदेश

हिमाचल घूमने की योजना बना रहें लोगों के लिए खुशखबरी, सरकार दे रही पर्यटकों को ई-पास, यहां करें अप्लाई

लाइव हिन्दुस्तान टीम,शिमला।Published By: Himanshu Jha
Thu, 17 Jun 2021 04:41 PM
हिमाचल घूमने की योजना बना रहें लोगों के लिए खुशखबरी, सरकार दे रही पर्यटकों को ई-पास, यहां करें अप्लाई

राज्य सरकार द्वारा कोविड -19 मानदंडों में ढील दिए जाने के बाद हजारों लोग हिमाचल प्रदेश में पर्यटन स्थलों की यात्रा कर रहे हैं। जबकि बड़ी संख्या में लोग पहले ही शिमला और मनाली पहुंच चुके हैं। पिछले सप्ताह में लगभग 10,000 लोगों ने कोविड -19 ई-पास के लिए आवेदन किया है। हालांकि, 10,000 में से केवल 3,000 आवेदनों को ही मंजूरी दी गई थी।

कम से कम 7,000 पास खारिज कर दिए गए क्योंकि आवेदकों ने राज्य का दौरा करने के सटीक कारण का उल्लेख नहीं किया था। कुछ मामलों में, संलग्न दस्तावेज या तो नकली थे या उस स्थान से मेल नहीं खाते थे जहां से उन्होंने अपनी यात्रा शुरू की थी। हिमाचल प्रदेश सरकार ने हाल ही में पर्यटकों के लिए कुछ मानदंडों में ढील दी थी क्योंकि राज्य का पर्यटन उद्योग लॉकडाउन से बुरी तरह प्रभावित था।

इस बीच, राज्य सरकार ने पर्यटकों को एक एडवाइजरी भी जारी की है, जिसमें उनसे कोविड -19 मानदंडों का पालन करने की अपील की गई है। पर्यटों को इस लिंक के जरिए ई-पास के लिए रजिस्ट्रेशन कराना होगा। 

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने कहा, "हिमाचल आने वाले पर्यटकों पर कोई प्रतिबंध नहीं है, लेकिन उन्हें कोविड ई-पास प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना होगा। यात्रा उद्योग राज्य के सकल घरेलू उत्पाद में 7 प्रतिशत योगदान देता है। लगभग 2 करोड़ पर्यटक हर साल राज्य में आते हैं। महामारी के दौरान पर्यटन उद्योग को भारी नुकसान हुआ। हमने पर्यटकों को राज्य का दौरा करने की अनुमति दी है, लेकिन उन्हें कोविड -19 मानदंडों का पालन करना होगा।”

पर्यटन स्थलों पर ट्रैफिक पुलिस सोशल डिस्टेंसिंग और अन्य कोविड-19 मानदंडों का सख्ती से पालन कराती है। बिना मास्क के पाए जाने वालों पर जुर्माना लगाया जा रहा है। पिछले एक साल में लगभग 8,000 लोगों को दंडित किया गया है। उल्लंघन करने वालों से 52 लाख रुपये का जुर्माना वसूल किया गया है।

पुलिस अधीक्षक शिमला मोहित चावला ने कहा, "कोविड -19 मानदंडों का उल्लंघन करने वालों को कड़ी कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा। हमने शिमला शहर में नौ बैरिकेड्स और ग्रामीण क्षेत्रों में 27 बैरिकेड्स लगाए हैं। अकेले शिमला में 51 गश्त दल तैनात किए गए हैं। उन लोगों के खिलाफ सात प्राथमिकी दर्ज की गई हैं जो कि सोशल डिस्टेंसिंग मानदंडों का उल्लंघन करते हुए पाए गए। उन पर 27,000 रुपये का जुर्माना लगाया गया है।''

इस बीच, शिमला और मनाली जैसे लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में पर्यटकों की भीड़ देखी जा रही है। पिछले तीन दिनों के दौरान करीब 3,000 पर्यटक कुल्लू-मनाली पहुंचे हैं। पर्यटकों की भीड़ के बावजूद, होटल में 30 प्रतिशत से 40 प्रतिशत के बीच रहने की स्थिति बनी हुई है, जिससे होटल व्यवसायी और रेस्तरां मालिक चिंतित हैं।

मनाली के एक होटल व्यवसायी चमन कपूर ने कहा, "सरकार द्वारा नियमों में ढील दिए जाने के बाद पर्यटक अब हिमाचल प्रदेश की ओर जा रहे हैं। होटल में रहने वालों की संख्या लगभग 30 प्रतिशत से 40 प्रतिशत है और हम सीजन के दौरान अधिक मेहमानों की उम्मीद कर रहे हैं। हम राज्य सरकार से अनुरोध करते हैं कि वह कोविड ई-पास सिस्टम को समाप्त करें। क्योंकि यह लोगों को राज्य में आने से रोक रहा है।”

संबंधित खबरें