ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News हिमाचल प्रदेशकांग्रेस ने हिमाचल में दो सीटों के लिए जारी की लिस्ट, मंडी सीट से विक्रमादित्य, शिमला से कौन?

कांग्रेस ने हिमाचल में दो सीटों के लिए जारी की लिस्ट, मंडी सीट से विक्रमादित्य, शिमला से कौन?

Congress List for Himachal: कांग्रेस ने हिमाचल प्रदेश में दो लोकसभा सीटों पर उम्मीदवारों के नाम जारी कर दिए हैं। माना जा रहा है कि बाकी बची सीटों के लिए भी नामों का ऐलान जल्द किए जाने की उम्मीद है। 

कांग्रेस ने हिमाचल में दो सीटों के लिए जारी की लिस्ट, मंडी सीट से विक्रमादित्य, शिमला से कौन?
Krishna Singhलाइव हिन्दुस्तान,शिमलाSat, 13 Apr 2024 10:03 PM
ऐप पर पढ़ें

कांग्रेस ने हिमाचल प्रदेश में दो लोकसभा सीटों पर उम्मीदवारों के नाम जारी कर दिए हैं। सूबे की बाकी सीटों के लिए भी नामों का ऐलान जल्द किए की उम्मीद है। कांग्रेस ने मंडी लोकसभा सीट पर हिमाचल प्रदेश के मंत्री विक्रमादित्य सिंह को चुनाव मैदान में उतारा है। विक्रमादित्य सिंह भाजपा उम्मीदवार और बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे। पार्टी ने शिमला (एससी) सुरक्षित सीट से विनोद सुल्तानपुरी को टिकट दिया है।

कांग्रेस ने शिमला से मौजूदा विधायक विनोद सुल्तानपुरी को लोकसभा के लिए उम्मीदवार बनाया है। विनोद सुल्तानपुरी का परिवार पहले से सियासत में है। विनोद के पिता कृष्ण दत्त सुल्तानपुरी छह बार सांसद रह चुके हैं। कृष्ण दत्त सुल्तानपुरी 1980 से 1998 तक लगातार सांसद रहे हैं। कांग्रेस ने अभी तक कांगड़ा और हमीरपुर लोकसभा सीट के लिए उम्मीदवारों के नामों का ऐलान अभी तक नहीं किया है। माना जा रहा है कि इन सीटों पर पार्टी प्रमुख मल्लिकार्जुन खड़गे खुद फैसला लेंगे। 

कांग्रेस की ओर से लिस्ट जारी होने से पहले राज्य कांग्रेस प्रमुख प्रतिभा सिंह ने कहा कि पार्टी नेताओं का मानना है कि एक युवा नेता को मैदान में उतारा जाना चाहिए, इसलिए विक्रमादित्य के नाम पर आम सहमति बनी है। हमने जिन 2 से 3 नामों को शॉर्टलिस्ट किया था, उन सभी पर चर्चा हुई। यह आलाकमान पर निर्भर करता है कि वे किन नामों को मंजूरी देते हैं। वहीं पार्टी के वरिष्ठ नेता राजीव शुक्ला ने कहा कि सूबे की बाकी बची दो सीटों के लिए विचार चल रहा है। 

कांग्रेस हाई कमान ने मंडी सीट से निवर्तमान सांसद प्रतिभा सिंह का टिकट काट दिया है। प्रतिभा सिंह प्रदेश कांग्रेस की कमान संभाले हुए है। प्रतिभा सिंह ने वर्ष 2021 में मंडी सीट पर हुए लोकसभा उपचुनाव में भाजपा को हराकर सबको चौंका दिया था। उस वक्त प्रदेश की सत्ता पर भाजपा का कब्जा था और जयराम ठाकुर मुख्यमंत्री थे। प्रतिभा सिंह ने इस बार लोकसभा चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया था। 

प्रतिभा सिंह की जगह उम्मीदवार बनाए गए उनके बेटे विक्रमादित्य सिंह तेज तर्रार नेता के तौर पर उभरे हैं। 37 साल की कंगना से मुकाबले के लिए 35 साल के विक्रमादित्य सिंह को चुनाव मैदान में उतार कर कांग्रेस ने युवा वोटरों को आकर्षित करने का दांव चला है। 

विक्रमादित्य सिंह अपने बयानों के लिए काफी चर्चा में रहते हैं। प्रदेश के युवाओं के बीच उनकी अच्छी पैठ है। मंडी लोकसभा सीट पर वीरभद्र परिवार छह बार परचम लहरा चुका है। स्वर्गीय वीरभद्र सिंह और प्रतिभा सिंह तीन-तीन बार मंडी से लोकसभा सांसद रहे हैं। विक्रमादित्य सिंह तेज तर्रार नेता माने जाते हैं और मंडी संसदीय क्षेत्र के रामपुर, लाहौल स्पीति और किन्नौर के इलाकों में उनका अच्छा प्रभाव है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें