ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News हिमाचल प्रदेशहमीरपुर, देहरा और नालागढ़ विधानसभा उपचुनाव में नया प्रयोग कर चौंका सकती है भाजपा, एक्सपर्ट व्यू

हमीरपुर, देहरा और नालागढ़ विधानसभा उपचुनाव में नया प्रयोग कर चौंका सकती है भाजपा, एक्सपर्ट व्यू

हिमाचल प्रदेश में विधानसभा की 3 सीटों पर होने वाले उपचुनाव सुक्खू सरकार के लिए अग्निपरीक्षा साबित होने वाले हैं। वहीं भाजपा इन उपचुनावों में नया प्रयोग कर के चौंका सकती है। पढ़ें यह रिपोर्ट...

हमीरपुर, देहरा और नालागढ़ विधानसभा उपचुनाव में नया प्रयोग कर चौंका सकती है भाजपा, एक्सपर्ट व्यू
Krishna Singhवार्ता,शिमलाTue, 11 Jun 2024 08:07 PM
ऐप पर पढ़ें

हिमाचल प्रदेश में विधानसभा की 3 सीटों पर होने वाले उपचुनाव सुक्खू सरकार के लिए अग्निपरीक्षा साबित होने वाले हैं। हमीरपुर, देहरा और नालागढ़ विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के लिए 10 जुलाई को मतदान होगा और 13 जुलाई को चुनाव नतीजे घोषित होंगे। हाल ही में छह विधानसभा क्षेत्रों में हुए उपचुनाव के नतीजे कांग्रेस के पक्ष में रहे हैं। इन उपचुनावों में छह में चार सीटें जीतकर कांग्रेस की सुक्खू सरकार मजबूत हुई है। अब कांग्रेस की नजर 3 उपचुनाव जीतने पर है। वहीं सूत्रों की मानें तो भाजपा पिछली शिकस्त से सीख लेकर इन उपचुनावों में नया प्रयोग कर के चौंका सकती है। 

विश्लेषकों का कहना है कि हमीरपुर, देहरा और नालागढ़ का चुनावी समर कांग्रेस के विजय रथ की कड़ी परीक्षा लेगा। इस बार वह तीनों उपचुनाव को भी भेदने की रणनीति पर काम कर रही है। उपचुनाव में जीत दिलाने का दारोमदार एक बार फिर मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू पर रहेगा। साल 2022 के विधानसभा चुनाव में हमीरपुर, देहरा और नालागढ़ में कांग्रेस को निर्दलीयों के हाथों शिकस्त मिली थी। हमीरपुर सीट मुख्यमंत्री सुक्खू के गृह जिला की हॉट सीट है और ऐसे में यहां मुख्यमंत्री की प्रतिष्ठा दांव पर है। 

साल 2022 के विधानसभा चुनाव में तीनों सीटें जीतने वाले निर्दलीय अब भाजपा में शामिल हैं। इन्हें भाजपा की टिकट मिलने की उम्मीद है। हालांकि पिछले उपचुनाव की चार सीटों पर मिली हार के बाद भाजपा इन तीन सीटों पर नया प्रयोग कर अचंभित कर सकती है। दूसरी तरफ कांग्रेस की तरफ से 2022 के विधानसभा चुनाव के प्रत्याशियों को दोबारा मैदान में उतारने के आसार अधिक दिख रहे हैं। इनमें हमीरपुर से डॉक्टर पुष्पेंद्र वर्मा, देहरा से डॉक्टर राजेश शर्मा और नालागढ़ से हरप्रीत बाबा शामिल हैं। 

कांग्रेस और भाजपा दोनों दलों में इन तीनों सीटों पर कई वरिष्ठ नेता भी टिकट के लिए जुगाड़ लगा रहे हैं। कांग्रेस हमीरपुर सीट दो दशक से हार रही है। हमीरपुर सीट भाजपा की गढ़ रही है। आखिरी बार साल 2003 में कांग्रेस की अनिता वर्मा यहां से विजयी हुई थी। वर्ष 2007 में भाजपा की उर्मिल ठाकुर, 2012 में प्रेम कुमार धूमल और 2017 में नरेंद्र ठाकुर ने यहां से जीत दर्ज की थी। वर्ष 2022 में भाजपा और कांग्रेस दोनों को हमीरपुर से हार मिली और निर्दलीय आशीष शर्मा पहली बार विधानसभा पहुंचे। 

इस बार कांग्रेस हमीरपुर सीट जीतने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेगी। हमीरपुर सीट पर पांचवी बार सांसद बने अनुराग ठाकुर का भी खास प्रभाव है। देहरा विधानसभा क्षेत्र भी उन्हीं के संसदीय क्षेत्र में शामिल है। ऐसे में भाजपा को दोनों सीटों पर जीत दिलाने में अुनराग ठाकुर की अहम भूमिका रहेगी। तीनों सीटों पर विस उपचुनाव के लिए 14 जून को अधिसूचना जारी होगी। 21 जून तक नामांकन होगा, 24 जून तक नामांकन पत्रों की जांच होगी और 26 जून को नामांकन पत्र वापिस लिए जा सकते हैं। 10 जुलाई को मतदान होगा।