अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हिमाचल प्रदेश में स्वचलित मौसम केंद्र स्थापित होगा

मौसम विभाग अलर्ट

मौसम, बर्फीले तूफान और भू-स्खलन के बेहतर पूर्वानुमान के लिये भारतीय मौसम विभाग हिमाचल प्रदेश में तीन डॉप्लर रडार, कुछ स्नो गेजर्स (बर्फ मापक) और स्वचालित मौसम केंद्र स्थापित करेगा। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। 
मौसम विभाग के अतिरिक्त महानिदेशक देवेंद्र प्रधान ने कहा कि यह रडार शिमला जिले के कुफरी, चंबा जिले के डलहौजी और कुल्लू में लगाए जाएंगे। अधिकारी ने कहा कि इन रडार, स्नो गेजर्स और स्वचालित मौसम केंद्र (एडब्ल्यूएस) के जरिये किया जाने वाला पूर्वानुमान प्रशासन के लिए मददगार होगा। इससे वह भारी बारिश, बर्फीले तूफान और भूस्खलन की वजह से होने वाले नुकसान को कम से कम करने के लिए इंतजाम हो सकेगा। राज्य में 13 अगस्त को हुई भारी बारिश की वजह से कम से कम 19 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि करीब 1000 करोड़ की संपत्ति का नुकसान हुआ था। पहला रडार अगले साल के अंत तक शिमला जिले के कुफरी में स्थापित किया जाएगा।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Automatic Weather Station will be set up in Himachal Pradesh