DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हिमाचल को अटल जी ने आधी रात को दिया था विशेष औद्योगिक पैकेज

Atal Bihari Vajpayee

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने हिमाचल को विशेष औद्योगिक पैकेज दिया था। उन्होंने आधी रात को विशेष औद्योगिक पैकेज की फाइल पर हस्ताक्षर किए थे, जिसके बाद से हिमाचल में औद्योगिक क्रांति की नई शुरुआत हुई। तब से लेकर अब तक करीबन 44 हजार उद्योग स्थापित हो चुके हैं।

बता दें कि केंद्रीय वित्त मंत्रालय और विनिवेश मंत्रालय औद्योगिक पैकेज देने के पक्ष में नहीं था लेकिन 2003 में तत्कालीन मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल दिल्ली में अटल बिहारी वाजपेयी के पास पहुंचे थे। उस समय धूमल के प्रधान निजी सचिव आइएएस अधिकारी अरुण शर्मा को रात 11 बजे तत्कालीन केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी को लेने के लिए भेजा गया। वह अटल जी के पास आए और विशेष औद्योगिक पैकेज प्राप्त करने का प्रेम कुमार धूमल का सपना साकार हुआ। तीन जनवरी 2003 को केंद्र सरकार ने हिमाचल को विशेष औद्योगिक पैकेज स्वीकृत किया। इसमें सभी प्रकार के औद्योगिक लाभ मौजूद थे। 

इस औद्योगिक पैकेज का ही परिणाम है कि आज राज्य के पांच जिलों में 44 हजार उद्योग स्थापित हुए हैं। अटल बिहारी वाजपेयी का तर्क था कि पहाड़ी प्रदेश होने से यहां पर भी औद्योगिक विकास संभव है। देश के सभी राज्यों में हर तरह का कच्चा माल एक जगह उपलब्ध नहीं है। ऐसे में हिमाचल में भी उद्योग स्थापित हो सकते हैं।

वाजपेयी जी के प्रयासों का परिणाम है कि सिरमौर, सोलन और ऊना ऐसे जिले ऐसे हैं जहां पर औद्योगिक विस्तार प्रमुखता से हुआ है। समय के साथ-साथ उद्योग राज्य के अंदरूनी क्षेत्रों में भी पहुंच गए हैं। हालांकि अटल सरकार जाते ही 10 वर्ष के लिए मिले औद्योगिक पैकेज पर ग्रहण लग गया। 2013 तक के लिए मिला पैकेज यूपीए सरकार ने 2007 में सिमटा दिया। केंद्र में यूपीए सरकार थी और राज्य में कांग्रेस सरकार। औद्योगिक पैकेज के तहत मिलने वाले लाभ हिमाचल कांग्रेस सरकार बचा नहीं सकी। पहले पैकेज 2010 तक सीमित किया गया और उसके बाद इसे 2007 तक कर दिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Atal Bihari Vajpayee gave himachal pradesh special industrial package