अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिमला में 200 सरकारी भवन खाली, कर्मचारी बोले नहीं लेंगे भूत बंगला

hounted house

हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में सरकार भवन लेने को कर्मचारियों में होड़ मची हुई है। लेकिन  200 ऐसे सरकारी भवन खाली पड़े हैं जिन्हें कोई लेने को तैयार ही नहीं है।
इसकी वजह जान कर आप भी चौंक सकते हैं। कर्मचारी का कहना है कि यहां रहने वाले लोगों के परिजनों के साथ कोई ना कोई हादसा हो जाता है। ऐसे में लोग इन बंगलों को भूत
बंगला भी कहने लगे हैं। 

हिन्दुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, शिमला में 200 ऐसे सरकारी भवन हैं जो तथाकथित नकारात्मक शक्तियों के कारण खाली पड़े हैं। सरकरी अधिकारियों के इस इन भुतहा
भवनों की चर्चा इस कदर है कि सरकार ने ऐसे हॉंन्टेड हाउसेस की एक पूरी लिस्ट तैयार की। सरकार के जीएडी ने लोगों को न पसंद आने वाले या डराने वाले भवनों की लिस्ट तैयार
की जिसमें 200 भवनों का नाम सामने आया।

हिमाचल सरकार के एक कर्मचारी हेमंत चौहान ने बताया कि उन्हें सात महीने पहले एक भवन आवंटित किया गया है कि लेकिन वह भवन के मनहूस होने के कारण इस पर नहीं
शिफ्ट हुए। वो अब दूसरे आवास के इंतजार में हैं।

शिमला सरकार के जीएडी के पास कुल 1848 अलग-अलग कैटेगरी के आवास हैं। जबकि सरकारी कर्मचारियों को 30000 आवासों की जरूरत है। कर्मचारियों की भारी डिमांड चलते बड़ी
संख्या में अभी लोग लाइन पर हैं।

जो लोग इन कथित भुतहा घरों में रह चुके हैं, उन्होंने यहां प्रेतआत्माओं होने और अजीबो-गरीब हरकतें होने का दावा किया है। एक कर्मचारी ने बताया कि रात में अचानक अलमारी
से उनकी प्लेटें गिर जाती थीं जबकि किचन में देखा तो कोई नहीं था। कभी-कभी रात में किसी औरत के गाना गाने की आवाजें आती थीं। ऐसा दावा करने वाले कर्मचारी ने मीडिया
में अपना नाम छापे जाने से इनकार किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:about 200 government houses remain vacant in shimla due to superstitions