DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

World TB Day 2019 : जानें क्या है तपेदिक और कैसे करें इसकी पहचान

world tb day

टीबी का नाम सुनते ही एक कमजोर और बुरी तरह खांसते हुए शख्स की तस्वीर उभरती है। यह एक से दूसरे को फैलने वाली बीमारी है और इसके शिकार लोग समाज से भी कट जाते हैं। हालांकि यह लाइलाज बीमारी नहीं है और सही देखभाल से इससे पूरी तरह छुटकारा पाया जा सकता है। आइए जानते हैं क्या है यह बीमारी और कैसे कर सकते हैं इसके लक्षणों की पहचान

क्या है तपेदिक
टीबी यानी ट्यूबरक्युलोसिस बैक्टीरिया से होने वाली फेफड़ों की बीमारी है। यह संक्रामक बीमारी है, जो मरीज के लार, बलगम और उसके संपर्क में रहने से होती है। फेफड़ों के अलावा तपेदिक यूटरस, हड्डियों, मस्तिष्क, लिवर, किडनी और गले में भी हो सकती है। खास बात यह है कि फेफड़े की टीबी के अलावा अन्य अंगों की टीबी संक्रामक नहीं होती है।

क्यों खतरनाक है टीबी
टीबी का मरीज जब छींकता है तो दबाव से 10 हजार बूंदे मुंह से निकलती हैं। वहीं, खांसते समय तीन हजार बूंदे मुंह से निकलती हैं। इसलिए टीबी के मरीज को छींकते और खांसते समय रुमाल का प्रयोग करना चाहिए। इसका संक्रमण काफी तेजी फैलता है। इसके अलावा टीबी शरीर के जिस हिस्से को अपना शिकार बनाती है, सही इलाज न मिलने पर वह पूरी तरह बेकार हो जाता है। यूटरस की टीबी के कारण बांझपन होता है, फेफड़ों में तपेदिक होने पर यह कमजोर और बेकार हो जाते हैं। इसी तरह ब्रेन की टीबी होने पर मरीज को दौरे पड़ते और हड्डी की टीबी में हड्डियां गलने लगती हैं।

यह हैं लक्षण 
वजन कम हो रहा हो
भूख कम होने लगे
3 हफ्ते से ज्यादा लगातार खांसी होना
खांसी के साथ बलगम हो
बलगम में कभी-कभार खून आना
शाम या रात में बुखार  
सांस लेते हुए सीने में दर्द हो

इसे भी पढ़ें : World TB Day 2019 : आज ही के दिन हुई थी तपेदिक के बैक्टीरिया की पहचान

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:world tb day 2019 know about tuberculosis and its symptoms