DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कब्ज से बचने के लिए सुबह खाली पेट एक लीटर पानी पिएं, 70 फीसदी बीमारी होती हैं खाने-पीने में गड़बड़ी के कारण

drinking excess water

शरीर में 70 फीसदी बीमारी खाने-पीने में गड़बड़ी के कारण होती है। इनको ठीक करने का सबसे अधिक कारगर पंचकर्म विधि है। पंचकर्म में दो तरीका है। एक संसमन चिकित्सा और दूसरा संशोधन चिकित्सा। संसमन चिकित्सा दवाओं से की जाती है। लेकिन इससे बीमारी दुबारा हो सकती है। वहीं संशोधन चिकित्सा से दुबारा बीमारी होने की आशंका कम रहती है। ये बातें राजकीय आयुर्वेदिक कॉलेज के प्राचार्य सह पंचकर्म विशेषज्ञ डॉ.दिनेश्वर प्रसाद ने कही। वे आपके अपने अखबार हिन्दुस्तान के दफ्तर में रविवार को आयोजित डॉक्टर की सलाह कार्यक्रम में राज्य भर से आए मरीजों के सवालों का जवाब दे रहे थे। डॉ. प्रसाद ने कहा कि पंचकर्म शरीर का शोधन करने का तरीका है। जो निरोग हैं, अगर वे पंचकर्म कराते हैं तो वे तमाम तरह की बीमारियों से बच सकते हैं।

पेट का ध्यान रखें बीमारी से बचेंगे:.

प्राचार्य ने बताया कि देर से भोजन करना, कम पानी पीना,मांस-मछली का सेवन करना और चावल ज्यादा खाने से पेट में कब्ज की समस्या होती है। इससे बचने के लिए सुबह खाली पेट एक लीटर पानी पीना चाहिए। अंकुरित चना और मूंग, दूध, अमरूद, मौसम के अनुसार बेल और पपीता हमेशा खाने में इस्तेमाल करना चाहिए। इसके बावजूद भी कब्ज है तो त्रिफला चूर्ण खाने से ठीक हो जाएगा। अगर इससे भी ठीक न हो तो पंचस्कार चूर्ण एक से दो चम्मच लेना चाहिए। ब्लड प्रेशर वाले मरीज को पंचस्कार चूर्ण नहीं लेना चाहिए। उन्हें त्रिफला चूर्ण लेना चाहिए। अगर किसी को चूर्ण लेने में परेशानी हो तो अभ्यारिस्ट दवा ले सकते हैं। ऐसा करने से कब्ज की बीमारी दूर हो जाएगी। .

-डॉ.दिनेश्वर प्रसाद, राजकीय आयुर्वेदिक कॉलेज के प्राचार्य सह पंचकर्म विशेषज्ञ 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:To avoid constipation drink a liter of empty stomach in the morning 70 percent of the diseases are due to disturbances of food and drink