DA Image
19 सितम्बर, 2020|12:59|IST

अगली स्टोरी

विटामिन डी के सप्लीमेंट से कम पड़ेंगे वर्टिगो के दौरे

headache

विटामिन डी और कैल्शियम के सप्लीमेंट का दिन में दो बार सेवन करने से वर्टिगो के दौरे कम हो सकते हैं। बेनिग्न पैरॉक्सिस्मल पॉसिबल वर्टिगो (बीपीपीवी) आंतरिक कान का एक विकार है जिसमें किसी व्यक्ति के सिर की स्थिति में परिवर्तन होने के कारण सिर घूमने या चक्कर आने जैसी परेशानी होती है। वर्टिगो के दौरे कुछ मिनटों तक रहते हैं और इसके कारण उल्टी भी आती है। 

बीपीपीवी के इलाज के लिए डॉक्टर सिर हिलाने के कुछ तरीके बताते हैं ताकि कान में पदार्थ सही जगह पर पहुंच जाए और मरीज को आराम मिले। विशेषज्ञों का मानना है कि वर्टिगो से जूझने वाले तकरीबन 86 फीसदी लोगों को रोजमर्रा के जीवन में इसकी वजह से बाधा आती है। 

ऐसे किया शोध-
दक्षिण कोरिया के नेशनल यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ मेडिसिन के न्यूरोलॉजिस्ट जी-सो किम ने 950 मरीजों पर अध्ययन किया जिनका पहले सफलतापूर्वक इलाज किया जा चुका था। मरीजों को दो समूहों में बांटा गया। एक समूह के विटामिन डी का स्तर मापा गया और उन्हें सप्लीमेंट दिए गए, वहीं दूसरे समूह की न तो जांच हुई न ही उन्हें सप्लीमेंट दिए गए। 

शोधकर्ताओं ने पाया कि एक साल पर विटामिन डी का सप्लीमेंट खाने वाले प्रतिभागियों में वर्टिगो के दौरे बहुत कम हो गए। अन्य समूह की तुलना में वर्टिगो के दौरे में 24 फीसदी की कमी आई। डॉक्टर किम ने कहा, हमारे शोध से पता चलता है कि रोजाना विटामिन डी और कैल्शियम का सप्लीमेंट लेने से वर्टिगो के मरीजों में दौरे बेहद कम हो जाते हैं। यह तब ज्यादा प्रभावी होता है जब आपके विटामिन डी का स्तर कम हो।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:supplementation of Vitamin D May Reduce Recurrence of Positional Vertigo attacks