DA Image
29 जून, 2020|1:45|IST

अगली स्टोरी

कागज आधारित जांच से अपशिष्ट जल में कोरोना वायरस का पता लगाया जा सकेगा

corona confirmed in two people  including a woman from lucknow 129 samples were examined

अनुसंधानकर्ता अपशिष्ट जल में कोरोना वायरस की मौजूदगी का पता लगाने के लिए एक जांच पर काम कर रहे हैं। इससे अपशिष्ट जल स्रोतों के जरिए कोविड-19 को फैलने से रोका जा सकेगा। ब्रिटेन के क्रेनफिल्ड वॉटर साइंस इंस्टिट्यूट के अनुसंधानकर्ताओं समेत अन्य वैज्ञानिकों के अनुसार इस तरह रोगियों के मलमूत्र से लिए गए नमूनों से जांच कर वायरस के फैलने की आशंका का पता लगाया जा सकता है।
एन्वायरमेंटल साइंस एंड टेक्नोलॉजी पत्रिका में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार जलमल शोधन संयंत्रों में कागज आधारित उपकरणों वाली त्वरित जांच किटों का इस्तेमाल किया जा सकता है। अध्ययन के अनुसार स्थानीय क्षेत्रों में कोविड-19 के स्रोतों का पता लगाने और संभावित रोगियों को चिह्नित करने में इन तरीकों का इस्तेमाल किया जा सकता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:study to detect corona virus in waste water through paper based investigation