अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हर रात आपको डराते हैं बुरे सपने तो इन 5 तरीकों से रोके इन्हें

हर रात आपको डराते हैं बुरे सपने तो इन 5 तरीकों से रोके इन्हें
हर रात आपको डराते हैं बुरे सपने तो इन 5 तरीकों से रोके इन्हें

रात में आने वाले बुरे सपने में हमें डराते हैं। ये न सिर्फ हमारी अच्छी नींद को खराब करते हैँ बल्कि इनका प्रभाव हमारे मानसिक और भावनात्मक स्वास्थ्य पर भी पड़ता है। जब हम सोते हैं तो हमारा शरीर तरोजाता होता है और  अपने आप को अगले दिन के लिए ऊर्जावान बनाता है। लेकिन इस दौरान हमारा दिमाग सक्रिय रहता है। माना जाता है कि पूरे में दिन में दिमाग के पास जो सूचनाएं इकट्ठी होती हैं उन्हें सोते वक्त वह अलग अलग कर संचित करता है। लेकिन यदि आप ऐसे लोगों में से हैं जिन्हें रात में डरावने सपने आते हैं तो दिमाग इस दौरान अपना काम करना बंद कर देता है।

लेकिन आप को ये बुरे सपने क्यों आते हैं?
एक रिपोर्ट के अनुसार, बुरे सपने आने के कई कारण हो सकते हैं। हो सकता है कि बुरे सपनों के पीछे कुछ बीमारियां हों। बुरे सपनों के कुछ कारणों में से तो दवाइयां व नशीले पदार्थ हो सकते हैं तो दिमाग में मौजूद रसायन को प्रभावित करते हैं। इसके अलावा बुरे सपनों के पीछे ब्लड प्रेसर या भूतकाल में हुआ कुछ बुरा अनुभव हो सकता है।

इन पांच तरीके से रोकें बुरे सपने-
1- तनाव को दूर करें-

कई बीमारियों का कारण तनाव होता है। इससे हम चिंताग्रस्त हो जाते हैं जो कि सेहत के लिए नुकसान देह होता है। ऐसे में बुरे सपनों के लिए जिम्मेदार कारकों में से एक तनाव भी हो सकता है। तनाव दूर करने के लिए चिकित्सक की सलाह लें, योगा करें और कुछ ऐसे काम करें जो आपको शांत और तनावमुक्त रहने में मदद करे।

अगली स्लाइड में पढ़ें- सपने रोकने के अन्य उपाय

2- सोने का रूटीन ठीक करें-
2- सोने का रूटीन ठीक करें-

लगातार नींद खराब होने के कारण भी बुरे सपने आ सकते हैं इसलिए जरूरी है आप अपने सोने के रूटीन को ठीक करें। अपने बेडरूम का वातावरण ऐसा बनाएं कि अच्छी नींद आ सके।

3- नुकसानदेह है गैजेट्स की रोशनी-
विशेषज्ञों का मानना है कि रात में सोने से पहले गैजेट्स का इस्तेमाल न करें क्योंकि गैजेट्स की नीली लाइट नींद को प्रभावित करती है। खासकर मोबाइल का इस्तेमाल नुकसान देह है।

4- इमैजरी रिहर्सल ट्रीटमेंट कराएं- इमैजरी रिहर्सल ट्रीटमेंट डरावने सपने रोकने के लिए सबसे कारगर उपाय है। इस थेरेपी के जरिए आप बुरी बातों के बारे में कल्पना करने के बजाए अच्छी बातों के बारे में सोचते हैं। जब जाग रहे होते हैं तो अच्छी बातों के बारे में सोचें।
 
5- अपने सपनों के बारे में किसी से बात करें। जो व्यक्ति आप के लिए भरोसेमंद हो और आपकी समस्या को समझे उससे अपने सपने के बारे में बात करें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:stop Bad dreams by reducing stress and with more 5 ways