DA Image
27 मार्च, 2020|6:56|IST

अगली स्टोरी

आपबीती: समय मुश्किल था, पर अब मैं पूरी तरह ठीक हूं : रोहित दत्ता

fight with coronavirus

रोहित दत्ता कोरोना से उबरने में कामयाब रहे हैं। वह दिल्ली में पहले व्यक्ति थे, जिनमें इस वायरस के घातक संक्रमण की पुष्टि हुई थी।

रोहित ने समय रहते सही कदम उठाया। बीबीसी ने रोहित के हवाले से एक रिपोर्ट में बताया कि उन्हें यूरोप से लौटने के बाद बुखार हुआ था, जो डॉक्टर की सलाह से दवा खाने के बाद भी बना रहा। तब उन्होंने 1 मार्च को कोरोना टेस्ट कराया। नतीजा पॉजीटिव आया। तब सरकारी टीम उन्हें अस्पताल ले गई। टीम ने उन तमाम लोगों की भी जांच की जो रोहित के संपर्क में आए थे। हालांकि नतीजे निगेटिव आए।

रोहित ने कहा, शुरुआत में मेरी हालत बहुत खराब थी। बोल भी नहीं पा रहा था। आराम करना बहुत जरूरी था। रोहित ने धैर्य रखा और आइसोलेशन में पूरा आराम किया। इससे हालत में सुधार हुआ।

रोहित कहते हैं, लोगों को यह समझना चाहिए कि अभी युद्ध जैसी हालत है। इसमें सेहत, सुविधाओं से अधिकअहम है। आशंका हो तो सबसे पहले डॉक्टर के पास जाना चाहिए और जांच करानी चाहिए। रिपोर्ट में रोहित के हवाले से कहा गया, जितना जल्द जाएंगे, उतना जल्द लौटेंगे।

COVID-19: जरूर जानें, कोरोना वायरस से जुड़े 4 मिथक और सच्चाई

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:self experience: Time was difficult but now I am completely fine says ex coronavirus patient Rohit Dutta