DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आंखों की रोशनी वापस लाने में मदद करेगा 3डी प्रिंटेड मानव कॉर्निया

3d printed human cornea

वैज्ञानिकों ने पहली बार 3डी प्रिंटेड मानव कॉर्निया बनाया है। इससे नेत्रदान करने वालों की कमी दूर करने और दृष्टि बाधित लाखों लोगों को रोशनी लौटाने में मदद मिल सकती है। 

इनसान की आंखों की बाहरी परत के रूप में कॉर्निया दृष्टि को फोकस करने में अहम भूमिका निभाता है। लेकिन प्रत्यारोपण के लिए कॉर्निया की कमी रहती है। दुनियाभर में करीब एक करोड़ लोगों को कॉर्निया से संबद्ध दृष्टिहीनता दूर करने के लिए ऑपरेशन की जरूरत होती है। 

आंखों से संबंधित संक्रामक रोग जैसे कि ट्रैकोमा के कारण लोगों को कॉर्निया के ऑपरेशन की जरूरत होती है। इसके अलावा जलने, जख्म, खरोंच या किसी बीमारी के चलते कॉर्निया के क्षतिग्रस्त होने के कारण करीब 50 लाख लोग पूरी तरह से दृष्टिहीनता के शिकार हो जाते हैं।

यह खोज एक्सपेरिमेंटल आई रिसर्च में प्रकाशित हुआ है। इसमें बताया गया है कि किस तरह से किसी स्वस्थ दानकर्ता के कॉर्निया की स्टेम सेल को एकसाथ मिलाकर दृष्टिहीनता का समाधान निकाला जा सकता है। इस पूरी प्रक्रिया को थ्री डी बायो प्रिंटर के माध्यम से बताया गया है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Scientists create the first 3D-printed human corneas