DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कम सोना से बढ़ जाता है इन पांच खतरनाक बीमारियों का खतरा

भाग-दौड़ की जन्दिगी में लोग ठीक से सो नहीं पाते हैं। आमतौर पर वयस्कों की लाइफ स्टाइल में पर्याप्त नींद मिलना भी एक लक्जरी बन गया है। डॉ. हेमशंकर शर्मा ने बताया कि वयस्कों को रोजाना सात से नौ घंटे की नींद चाहिए। अगर आप लगातार कम नींद ले रहे हैं तो आगे चलकर कई तरह की स्वास्थ्य समस्यायें पैदा हो सकती है। नींद में व्यवधान डालने का मतलब जिंदगी में व्यवधान डाल रहे हैं। 
कम सोने से होगी परेशानी

मस्तिष्क को नुकसान : नींद से मस्तिष्क की कोशिकाओं को स्वस्थ रखने में काफी मदद मिलती है। कम सोने पर दिमाग को नुकसान पहुंचाने वाले अणु काम में लग जाते हैं।

डिप्रेशन या अवसाद : जो लोग कम सोते हैं उनके अवसाद में जाने की संभावना आम लोगों से पांच गुना ज्यादा होता है।

मधुमेह का खतरा : कम सोने से वजन बढ़ने का भी खतरा रहता है। पाचन तंत्र भी बुरी तरह प्रभावित होता है। वजन बढ़ने से लोगों में ब्लड प्रेशर,हार्मोन और शुगर का स्तर बिगड़ता है। इससे डायविटीज का खतरा होता है।

हृदय की समस्याएं : दिल की समस्याओं का खतरा भी नींद से जुड़ा है। पर्याप्त नींद ना लेने वालों में एनजाइना का खतरा दोगुना और कोरोनरी धमनी की बीमारी का जोखिम बढ़ जाता है। 

मोटापा कम करता है अलसी का काढ़ा, पढ़ें अलसी के चमत्कारिक फायदे

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:risk of these five dangerous diseases increases by insomnia