DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब चेहरे पर नहीं दिखेगा उम्र का असर, जानिए कौन सी हैं ये दवाएं जो आएंगी आपके काम

wrinkles

अगर बढ़ती उम्र का दिखाई देता असर आपके लिए चिंता का विषय है तो परेशान होने की जरूरत नहीं है। वैज्ञानिकों  का कहना है कि उम्र को नियंत्रित करने की नई उम्मीद जगी है। अब एंटी-एजिंग दवाओं के जरिये उम्र के प्रभाव को कम किया जा सकेगा। 

चूहों पर किया सफल परीक्षण: वैज्ञानिकों ने चूहों पर इसका सफल प्रयोग करके भी देखा। वैज्ञानिकों ने चूहों को जवान बनाए रखने वाली दवा दी। जिस चूहे को अध्ययन के दौरान एंटी एजिंग दवा दी गई, उसके बाल चमकीले रहे और आंखों में भी चमक बरकरार रही। वहीं, अध्ययन में शामिल अन्य चूहा, जिसे एंटी एजिंग दवा नहीं दी गई, उसमें उम्र का असर साफ दिखाई दिया। शोधकर्ताओं ने पाया कि एंटी-एजिंग दवा ने चूहों के जीवन में 36 प्रतिशत का इजाफा किया, जो इंसानों के करीब 30 साल के बराबर है।

बड़ी उम्र तक नहीं जीना चाहते लोग: यह अध्ययन रॉबर्ट एंड एर्लिन कोगॉड ऑफ एजिंग के निदेशक डॉ. जेम्स किर्कलेंड ने रोचेस्टर, मिनेसोटा के मेयो क्लीनिक में किया। डॉ. किर्कलेंड के मुताबिक, ज्यादातर लोग 130 वर्ष तक नहीं जीना चाहते और यह महसूस नहीं करना चाहते कि वो इतने उम्रदराज  हैं। लेकिन, 90 या 100 वर्ष तक जीने में उन्हें दिक्कत नहीं है और इस उम्र में वे साठ साल जैसा महसूस करना चाहते हैं। जानवरों में हालांकि यह संभव है।

बीमारियों से परेशानी: बुढ़ापे को कैंसर, गठिया, अल्जाइमर और हृदय रोग जैसी तमाम बीमारियों के आक्रमण का दौर भी माना जाता है। डॉ. किर्कलैंड का कहना है कि बुढ़ापे में लोग सिर्फ एक ही बीमारी से नहीं, बल्कि स्वास्थ्य संबंधी तमाम परेशानियों से जूझते हैं। इसके पीछे वजह सिर्फ एक होती है, बढ़ी हुई उम्र। ऐसे में तमाम बीमारियों का उपचार करने की बजाय वैज्ञानिक व्यापक स्तर पर ऐसी दवा तैयार करने में जुटे हैं, जो उम्र में इजाफे और बीमारियों के हमले की प्रक्रिया को धीमा कर सके। 

इसे भी पढ़ें : पोती को जन्म देने के  लिए सरोगेट मदर बनी दादी, जानिए क्या है पूरा मामला

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:pioneering new research shows new medicine will help reversing process of aging