DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सुपरफूड से कम नहीं धान का छिलका, पढ़ें चौंका देने वाले फायदे

धान का छिलका या तो जानवरों का चारा बन जाता है या फिर खेती के अन्य कचरे के साथ फेंक दिया जाता है। अमेरिका में हुए एक शोध में पता चला है कि चावल के छिलके में इतने पौष्टिक तत्व होते हैं कि इसे सुपरफूड कहना जरा भी गलत नहीं होगा।

अध्ययन में बताया गया है कि यह प्रोटीन, फैट, मिनरल, और विटामिन का भरपूर स्रोत होता है। शोधकर्ताओं ने चावल की भूसी को अब तक का सर्वाधिक बर्बाद किया गया प्राकृतिक उत्पाद करार दिया है। उनके मुताबिक हर साल तकरीबन छह करोड़ टन भूसी फेंक दी जाती है। हालांकि कुछ कंपनियां इससे बने कुछ खाद्य उत्पादों को गेहूं और ओट्स के विकल्प के तौर पर बेच रही हैं।

कोलोराडो स्टेट यूनिवर्सिटी में हुए अध्ययन के दौरान चावल की भूसी में विटामिन बी समेत कई पौष्टिक तत्वों की मौजूदगी की पुष्टि हुई। शोधकर्ताओं का कहना है कि इसे फेंकने के बजाय इसका इस्तेमाल ब्रेड, केक, शीतल पेय या अन्य खाद्य पदार्थों में किया जा सकता है।

शोध लेखक प्रोफेसर एलिजाबेथ रयान का कहना है कि चावल की भूसी की कटोरी में एक व्यक्ति की दैनिक जरूरत के बराबर पौष्टिक तत्व मौजूद होते हैं। पारंपरिक रूप से माना जाता है कि यह फाइबर का बेहतरीन स्रोत है। 

खुलासा
यह प्रोटीन, फैट, मिनरल, और विटामिन का भरपूर स्रोत
छह करोड़ टन भूसी तकरीबन हर साल फेंक दी जाती है

गर्मियों में आम और लीची खाने में ये बरतें सावधानी, नहीं तो...

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:paddy husk become a super food