DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

...तो इसलिए डाइटिंग के दौरान चारों तरफ क्यों दिखाई देते हैं स्वादिष्ट व्यंजन

अगर आप वजन घटाने की कवायद में जुटे हैं, तो हो सकता है इन दिनों आपको अपने आसपास स्वादिष्ट खानपान कुछ ज्यादा ही नजर आ रहा हो। आप न चाह कर भी बार-बार खाने की ओर आकर्षित होते हैं। आखिर ऐसा क्यों होता है? हाल ही में वैज्ञानिकों ने शोध के बाद इस राज से पर्दा उठा दिया है। 

बर्मिंघम विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने एक अध्ययन के जरिए यह पता लगाया है कि खाने के बारे में सोचने भर से आपकी नजर चारों ओर खाने पर पड़ने लगती है। फिर चाहें आप खाने से दूरी बनाने के लिए ही उसके बारे में क्यों न सोच रहे हों, ऐसी स्थिति में भी न चाहते हुए आसपास स्वादिष्ट खाद्य पदार्थ अधिक दिखाई देने लगते हैं। 

बढ़ती है खाने की इच्छा
अध्ययन में 43 मोटापाग्रस्त लोगों को शामिल किया गया तथा 49 स्वस्थ वजन वाले प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। प्रतिभागियों को खाद्य पदार्थ की तस्वीर को याद करने का टास्क दिया गया। इसके बाद प्रतिभागियों से स्क्रीन पर एक सर्कल को जितना तेजी से संभव हो देखने के लिए कहा गया। वहीं उसी स्क्रीन पर एक स्क्वायर को नजरअंदाज करने के लिए कहा गया। कुछ जांच के दौरान सर्कल में खाद्य पदार्थों की तस्वीरें रखी गईं। कुछ में स्क्वायर में रखी गईं। 

अध्ययन के परिणाम बताते हैं कि जब खाद्य पदार्थों को स्क्वायर में रखा गया तो सर्कल को ढूंढने में प्रतिभागियों को दिक्कत महसूस हुई। अध्ययन की मुख्य शोधकर्ता सुजान हिग्न के मुताबिक, ‘हमारा सुझाव है कि खाने के बारे में सोचनेभर से ज्यादा खाने की इच्छा बढ़ती है। आसपास दिखाई देने वाले खाद्य पदार्थों के प्रति इंसान प्रतिक्रियाशील होता है। लंबे वक्त तक इस तरह की इच्छा और आदत वजन बढ़ाने का कारण होती है। 

Mission Weight Loss : ये 4 सूप रेसिपी से पाएं फ्लैट टमी, जानें रेसिपी

शोधकर्ताओं का कहना है कि डाइटिंग के दौरान खाने के बारे में ज्यादा न सोचकर किसी अन्य कार्य पर अपना ध्यान केंद्रित करना चाहिए। ऐसा पाया गया है कि पजल, गेम और रुचियों आदि से ध्यान भटकाया जा  सकता है जिससे खाने के बारे में सोचने का समय कम मिलता है।

डाइटिंग से ज्यादा कारगर है व्रत रखना
यूनिवर्सिटी ऑफ एडिलेड की ओर से किये गए एक शोध में कहा गया है कि वजन घटाने के लिए डाइटिंग से ज्यादा कारगर व्रत रखना होता है। 88 महिलाओं पर 10 हफ्तों तक शोध किया गया जहां पहले उनसे डाइटिंग करवाई गई। बाद में शोधकर्ताओं ने अगले 10 हफ्तों के दौरान उनसे अनिरंतर व्रत रखवाए। इस शोध के दौरान पाया गया कि डाइटिंग करने वाली महिलाओं की तुलना में व्रत रखने वाली महिलाओं के वजन में ज्यादा कमी देखी गई। वैज्ञानिकों का कहना है कि लंबे समय तक डाइटिंग करना संभव नहीं हो पाता इसलिए वजन नियंत्रित करने के लिए व्रत रखना ज्यादा कारगर है।

भूख बढ़ाता है गरम मसाला, इन 5 फायदों के बारे में नहीं जानते होंगे आप

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Know why do we see mouth watering food while dieting