DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शरीर को मजबूत बनाना है तो रोज खाएं फल

सांकेतिक तस्वीर (साभारः Food Revolution Network)

सर्दी के मौसम में प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर बनाना आसान होता है, क्योंकि इस मौसम में पोषण से भरपूर फल भी खूब होते हैं। आप उनका फायदा कैसे उठाएं, जानकारी दे रही हैं ज्योति सोही

आमतौर पर ये बात सुनने को मिलती है कि खाने-पीने का जो मजा सर्दियों में है, वो दूसरे मौसम में कहां! हालांकि सर्दी के मौसम में खांसी-जुकाम जैसे छोटे-मोटे रोगों के होने की आशंका अधिक रहती है। ऐसे में अपने शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए आपको भोजन में नेचुरल एंटीऑक्सिडेंट्स को शामिल करना चाहिए। दरअसल, खानपान की स्वस्थ आदतों और पौष्टिक आहार से ही हम सर्द मौसम की मार झेल पाते हैं। ऐसे में ठंड के मौसम में अपने खाने में कुछ फलों को जरूर शामिल करें।  

रंग-बिरंगे फलों से भरपूर हो आहार
कम से कम तीन रंग के फलों को हमें अपने भोजन का हिस्सा बनाना चाहिए। 

सेब यानी लाल रंग के फल
सर्दियों में रोजाना सेब का रस या सेब खाना सेहत के लिए फायदेमंद होता है। इसका सेवन दिल व रोग-प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करता है और भूलने की बीमारी को भी दूर करता है। सेब शरीर में आयरन के स्तर को भी बढ़ाता है।

ठंड में बाहर नहीं जा सकते हैं, तो घर में करें व्यायाम

खट्टे फल यानी नारंगी या पीले फल
सर्दियों में मिलने वाले संतरा, कीनू जैसे खट्टे जूसी फल अपनी दिनचर्या में जरूर शामिल करें। विटामिन सी, पेक्टिन फाइबर, लाइमोनीन, फाइटोकैमिकल्स से भरपूर ये फल रसदार हैं। इनके नियमित सेवन से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता में बढ़ोतरी होती है।

अमरूद यानी हरे रंग के फल
सर्दियों में अमरूद को फलों का राजा कहा जाता है। इसमें मौजूद पौष्टिक तत्व शरीर को फिट, स्वस्थ रखने के साथ-साथ इम्यूनिटी बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। यह ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में फायदेमंद है।

हरे-भरे कीवी और अनार
जहां एक ओर कीवी में विटामिन सी भरपूर मात्रा में होता है, वहीं अनार के दानों में मौजूद तत्व प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के साथ-साथ सूजन से लड़ने में मदद करता है। कीवी वायरल संक्रमण से होने वाले जुकाम-खांसी, फ्लू आदि से बचाव करता है। यह कोलेजन सेल्स का निर्माण कर त्वचा को स्वस्थ बनाए रखता है। 

गुलाबी शकरकंद
अगर आपको आलू खाना पसंद नहीं तो स्वीट पोटैटो अर्थात शकरकंदी खाएं। इसके सेवन से शरीर में विटामिन ए और सी के स्तर में वृद्धि होती है। शकरकंद डायट्री फाइबर और कार्बोहाइड्रेट से भरपूर होती है। 

लाल अंगूर
लाल अंगूर में विटामिन सी, ए और बी6 काफी मात्रा में होता है। इसमें बहुत सारा फोलेट, पोटैशियम, आयरन, कैल्शियम आदि भी पाया जाता है। इसे खाने से कब्ज, थकान और पेट से संबंधित समस्याओं से बचाव होता है। 

हरे अंगूर 
अंगूर विटामिन, मिनरल्स, कार्बोहाइड्रेट, ग्लूकोज जैसे पौष्टिक तत्वों और पॉली-फिनॉल, एंटीऑक्सिडेंट, एंटी बैक्टीरियल, फाइटोन्यूट्रिएंट्स गुणों से लबरेज है। इसमें मौजूद शर्करा रक्त में आसानी से अवशोषित हो जाती है और थकान दूर कर शरीर को ऊर्जा प्रदान करती है।

सफेद रंग का सिंघाड़ा
मखाने की तरह पानी में पैदा होने वाला तिकोनाकार फल सिंघाड़ा सर्दियों के मौसम में अकसर बाजार में बड़ी मात्रा में उपलब्ध होता है। सिघाड़े में साइट्रिक एसिड, एमिलोज, कार्बोहाइड्रेट, टैनीन, बीटा-एमिलेज, प्रोटीन, फैट, निकोटेनिक एसिड, थायमीन, विटामिन्स-ए, सी, मैगनीज आदि होते हैं। ये सर्दियों का एक अच्छा फल है। 

पीला फल केला
केले में सभी फलों की तरह बहुत ही महत्वपूर्ण पोषक तत्व और खनिज पदार्थ होते हैं। इसमें कैल्शियम, मैग्नीशियम, आयरन, राइबोफ्लेविन और बी5 भी होते हैं। केले का सेवन करने से सभी आम बीमारियां ठीक होती हैं, साथ ही इससे रक्ताल्पता की समस्या भी दूर रहती है।

खाने के शौकीन या ईटिंग डिसॉर्डर के शिकार, जानिए इसके बारे में सबकुछ

फल खाना क्यों जरूरी
आहार विशेषज्ञों की मानें तो सर्दी के मौसम में कैलरी और फैट में कम, लेकिन विटामिन, मिनरल, फ्लेवोनॉएड, एंटी एंटीऑक्सिडेंट्स, फाइटोन्यूट्रिएंट्स, एंटी बैक्टीरियल जैसे तत्वों में दमदार फलों की  विविधता तो मिलती ही है। साथ ही साथ वजन के प्रति सचेत लोगों के लिए आदर्श आहार भी साबित होते हैं, क्योंकि इनमें से अधिकतर में फाइबर भरपूर मात्रा में मिलता है। फल सर्दी के मौसम में पड़ने वाली ठंड का सामना करने के लिए ऊर्जा का उत्पादन कर शरीर को मजबूत बनाते हैं। इनमें पाई जाने वाली नेचुरल शुगर बहुत जल्दी अवशोषित होकर ऊर्जा का उत्पादन करती है और हमारे शरीर को गर्म रखती है। फल शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने और रोगों से लड़ने के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता और शरीर की पाचन क्षमता (मेटाबॉलिज्म) को बढ़ाने का काम करते हैं।

कब खाना बेहतर
दोपहर का समय खाना खाने से पहले फल खाने का सबसे अच्छा समय है, जब हमारा पेट खाली होता है। भोजन करने के बाद फल नहीं खाने चाहिए। फल भोजन करने से 15-20 मिनट पहले या एक घंटे बाद खाना ही बेहतर है, जिससे ये आसानी से पच जाते हैं। सेब, अंगूर और संतरा सुबह नाश्ते से पहले और लंच व डिनर के बीच ब्रंच के तौर पर खाना अधिक फायदेमंद है। सर्दी के मौसम में रात में फल खाने से परहेज करें।

बरतें सावधानी

  • फ्रिज में रखे ठंडे फलों का तापमान सामान्य करके ही खाएं।
  • फलों का जूस पीने की बजाय चबा-चबा कर खाना फायदेमंद है। इससे फलों में मौजूद फाइबर बर्बाद नहीं होता।
  • फल खाने से पहले उसे अच्छी तरह धो जरूर लें। इनके छिलकों पर संक्रमण फैलाने वाले जीवाणु चिपके होते हैं, जो शरीर में पहुंच कर बीमारियों को न्योता देते हैं।
  • काट कर रखे फल न खाएं। इससे इनमें मौजूद लौह ऑक्साइड से लोहा फैरिक ऑक्साइड के रूप में बदल जाता है।
  • फलों का चयन करते समय ध्यान रखें कि वे कोल्ड स्टोर के न होकर 
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:if you want to make your body healthy then eat fruits know full details