DA Image
27 मार्च, 2020|7:18|IST

अगली स्टोरी

Home Remedies: पेट में सूजन के कारण, जानिए कितना खतरनाक है यह और क्या है घरेलू इलाज

stomach problem

पेट में सूजन के अलग-अलग कारण हो सकते हैं, लेकिन यह स्थिति अपने आप ठीक न हो और बार-बार रहे तो बड़ी परेशानी का कारण बन सकती है। आमतौर पर पेट में इनफेक्शन होने पर सूजन होती है। साथ ही पेट फूलना और कब्ज की समस्या होती है। www.myupchar.com से जुड़ीं एम्स की डॉ. वीके राजलक्ष्मी के अनुसार, पेट में सूजन को गेस्ट्राइटिस कहा जाता है। पेट में सूजन अचानक आ सकती है या धीरे-धीरे बढ़ सकती है। समय पर इलाज न किया जाए तो यह सूजन अल्सर का रूप धारण कर सकती है या अधिक गंभीर मामलों में कैंसर भी हो सकता है। अधिकांश मामलों में गेस्ट्राइटिस गंभीर नहीं होता या अपने आप भी ठीक हो जाता है।
 
पेट में सूजन के लक्षण
पेट के ऊपरी भाग में बैचेनी
पेट के ऊपरी हिस्से से लेकर मध्य भाग में दर्द
पेट या पीठ के बाईं तरफ दर्द
लगातार डकार या उबकाई आना
मितली और उल्टी आना
पेट भरा हुआ महसूस होना
पेट के ऊपरी भाग में जलन
पेट फूला हुआ महसूस
पसीना आना, धड़कनें तेज होना
बेहोशी या सांस लेने में कठिनाई
छाती में दर्द या पेट में गंभीर दर्द
 
क्यों होती है पेट में सूजन
पेट की अंदरूनी परत कमजोर होने पर सूजन होती है। ऐसा कई कारण से हो सकता है। अधिकांश मामलों में बैक्टीरिया हमला करते हैं। पेट में हमला करने वाले बैक्टीरिया में हेलीकोबेक्टर पाइलोरी सामान्य है। दूषित पानी या दूषित खाना खाने से यह बैक्टीरिया हमला बोलता है। इसके अलावा अत्यधिक शराब पीने वालों में गेस्ट्राइटिस का जोखिम अधिक रहता है। इसके अलावा जो लोग तनाव में रहते हैं, उनमें गेस्ट्राइटिस की आशंका रहती है। कुछ दवाएं भी इसका कारण बनती हैं। अधिक तंबाकू और धूम्रपान करने से पेट में सूजन हो सकती है।
 
डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए
डॉ. वीके राजलक्ष्मी के अनुसार, पेट में जलन या खट्टी डकार आम बात है। यह समस्या अपने आप ठीक भी हो जाती है। लेकिन गेस्ट्राइटिस के लक्षण एक हफ्ते या इससे अधिक समय तक रहते हैं तो डॉक्टर को दिखाना चाहिए। पेट की आम समस्याओं के दौरान यदि उल्टी में खून, मल में खून या गहरे काले रंग का मल आता है तो तत्काल इलाज लेना चाहिए।
 
पेट में सूजन से बचने के घरेलू उपाय
पेट की सूजन से छुटकारा पाने के घरेलू उपायों में लौंग सबसे फायदेमंद होता है। रोज 2 से 3 लौंग या इनके पानी का सेवन करने से पेट स्वस्थ्य रहता है। खाना पकाते समय तो लहसुन का उपयोग होता ही है, लेकिन खाली पेट इसका सेवन कई तरह के इन्फेक्शन से मुक्ति दिलाता है। लेकिन ध्यान रहे कि लौंग और लहसुन, दोनों की तासीर गर्म है। इससे पेट में गर्मी हो सकती है। नीम की पत्तियां भी पेट की सूजन का प्राकृतिक इलाज है। चावल का पानी पीने से पेट स्वस्थ्य रहता है।
 
रखें इन बातों का ध्यान
पेट की अधिकांश समस्याओं का कारण खानपान होता है। अपने खानपान पर नियंत्रण रखें। तली-गली और मसालेदार चीजें न खाएं। खाने को अच्छी तरह चबाएं। ज्यादा शुगर युक्त चीजों के सेवन से बचें। बहुत गर्म या बहुत ठंडी चीजों के सेवन से बचें।

अधिक जानकारी के लिए देखें: https://www.myupchar.com/disease/gastritis

स्वास्थ्य आलेख www.myUpchar.com द्वारा लिखे गए हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Home remedies: Due to swelling in the stomach know how dangerous it is and what is the home remedies