DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Expert Tips : त्वचा की सेहत भी है जरूरी, एक्सपर्ट से जानें त्वचा को हेल्दी रखने के टिप्स

शरीर में जिन चीजों की गड़बड़ी से बीमारी बढ़ती है, प्राकृतिक उपचार के तहत उन्हीं का इस्तेमाल कर बीमारी का इलाज किया जाता है। त्वचा की समस्या के ऐसे ही उपचार के बारे में जानकारी दे रही हैं सुषमा कुमारी

हमारे शरीर में गंदगी का समावेश ही बीमारियों का मूल कारण है। शरीर में एकत्र यह गंदगी  जब टॉक्सिंस में तब्दील होकर शरीर में ही रुक जाए और शरीर से बाहर न निकल पाए, तो वह त्वचा संबंधी समस्याओं के रूप में नजर आने लगती हैं। शरीर में विजातीय द्रव्यों का समावेश होने से शुद्ध और अशुद्ध रक्त का संयोजन गड़बड़ हो जाता है। यह गड़बड़ी ही त्वचा संबंधी बीमारियों के रूप में नजर आती है। ऐसे में शरीर से इन टॉक्सिंस को बाहर निकालना बेहद जरूरी हो जाता है। शरीर के खून को साफ करके प्राकृतिक तरीके से टॉक्सिंस को बाहर किया जाता है।

क्या हैं इलाज
- आपको एलर्जी, खुजली या रैशेज की शिकायत है, तो कपूर को नारियल तेल में मिलाकर प्रयोग करें। 
- प्रभावित जगह पर मुल्तानी मिट्टी का लेप के रूप में प्रयोग करें।
- इसमें तुलसी की पत्तियां, गुलाब की पत्तियां या गुलाब जल भी मिला सकते हैं। 
- त्वचा की एलर्जी हो तो नीम के पत्तों को पानी में बॉयल करके फिर उसे ठंढा कर उससे नहाएं, लाभ होगा।

मसाज के तरीके
- प्राकृतिक मसाज से भी संक्रमण को दूर किया जाता है। सॉल्ट ग्लो मसाज में नारियल तेल में नमक मिलाकर उससे शरीर की स्क्रबिंग या कहें कि मालिश की जाती है। इसे नैचुरल स्क्रबर भी कहा जाता है।
- ऑलिव ऑयल से मसाज करके डेड सेल्स को शरीर से दूर किया जा सकता है।
- मूंग की दाल में त्रिफला आदि मिलाकर उससे शरीर की स्क्रबिंग की जाती है। यह मृत त्वचा के साथ-साथ एलर्जी को दूर करने में भी कारगर है।
- त्वचा संबंधी रोगों को दूर करने के लिए अलग-अलग हर्ब्स का प्रयोग कर सकते हैं। नीम, तुलसी, एलोवेरा, गुलाब जल, गुलाब की पत्तियां, मुल्तानी मिट्टी, नमक, हल्दी आदि इनमें प्रमुख हैं। इनके पत्ते या अर्क को लेप में मिलाकर पूरे शरीर में लगाने से काफी लाभ होता है।

मुहांसे करें दूर
- प्राकृतिक उपचार के मुताबिक मुंहासों की समस्या भी खून से जुड़ी है। खून की सफाई करके इसे दूर किया जा सकता है। 
- मुंहासे गर्मी की वजह से आते हैं। इसलिए इसे दूर करने के लिए मुल्तानी मिट्टी में एलोवेरा मिलाकर लेप तैयार करते हैं। इसे चेहरे पर लगाकर चेहरे को शीतलता प्रदान की जाती है। 
- खूबसूरती बढ़ाने के लिए आप लेप में गुलाब की पत्तियां, गुलाब जल, बेसन, दही का प्रयोग कर सकते हैं। आप चाहें तो दही और बेसन का लेप भी लगा सकते हैं। 
- आजकल मुंहासों से भी ज्यादा मस्से होने लगे हैं। यह मस्सा भी संक्रामक है, जो बढ़ता ही जाता है। मस्से को धोते समय ज्यादा रगड़ें नहीं, अन्यथा यह फैल जाएगा। एक जगह मस्सा हो और आप उसे हटा दें, तो तय है कि उसके आसपास मस्सा फिर से आ जाएगा। इसलिए उसकी सफाई ठीक से करें और विशेषज्ञ को दिखाएं।
(छत्तरपुर स्थित अध्यात्म साधना केंद्र के वरिष्ठ प्राकृतिक चिकित्सक डॉ़  दिलीप राजौरिया से की गई बातचीत पर आधारित)

इसे भी पढ़ें : हेल्थ टिप्स: तेज दिमाग पाने के लिए खाएं ये चीजें

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:expert tips know these tips to get healthy skin