DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   डायबिटीज और कैंसर ही नहीं थायराइड मरीजों में कोरोना का कई गुना अधिक खतरा

हेल्थडायबिटीज और कैंसर ही नहीं थायराइड मरीजों में कोरोना का कई गुना अधिक खतरा

हिन्दुस्तान टीम,लखनऊPublished By: Deep Pandey
Thu, 23 Jul 2020 10:56 AM
डायबिटीज और कैंसर ही नहीं थायराइड मरीजों में कोरोना का कई गुना अधिक खतरा

गुर्दा, दिल, डायबिटीज और कैंसर ही नहीं थायराइड मरीजों को भी कोरोना का खतरा सामान्य लोगों के मुकाबले कई गुना रहता है। इसलिए थायराइड के मरीज कोरोना संक्रमण के प्रति अधिक सजग रहें सावधानी बरतें। क्योंकि थायराइड की दवा खाने वाले मरीजों में बुखार, ठण्ड लगाना , गले में खराश और शरीर में दर्द के लक्षण हो सकते हैं। यह कहना है पीजीआई के इंडोक्राइन सर्जरी विभाग के डॉ. ज्ञान चंद का। वह बताते हैं कि हाइपो थाइराइड वाले मरीज थायराइड की दवा सुबह खली पेट नियमित लें। कोरोना काल में अनावश्यक रूप से अस्पताल न जाए। थायराइड की जांच छह माह या एक साल में करायें। गर्भवती महिलाएं खासी सतर्कता बरतें। 

थायराइड की हर गांठ कैंसर नही होती 
डॉ. ज्ञान बताते हैं कि यदि किसी को थायराइड की गांठ में कैंसर नहीं है तो घबराये नहीं। इन गांठ में कैंसर होने की संभावना बहुत कम होती है। गांठ की वजह से सांस लेने और खाना खाने में तकलीफ हो सकती है। 

ऑपरेशन अभी टाल दे
डॉ. ज्ञानचंद बताते हैं कि थायराइड कैंसर बहुत धीमी गति से बढ़ता है। ऐसे में यदि किसी को थायराइड कैंसर है तो घबराये नही। बल्कि कोरोना काल में इस ऑपरेशन को कुछ समय के लिए टाला जा सकता है। वजह अस्पताल में कोरोना संक्रमण का खतरा अधिक है। कुछ इंतजार कर लें।

संबंधित खबरें