DA Image
5 जुलाई, 2020|2:35|IST

अगली स्टोरी

सन फार्मा को कोविड-19 की संभावित दवा के चिकित्सकीय परीक्षण की मिली अनुमति

sun pharmaceutical industries

दवा कंपनी सन फार्मास्युटिकल्स को भारतीय दवा महानियंत्रक (डीसीजीआई) से कोविड-19 की संभावित दवा नैफमोस्टेट मेसिलेट के चिकित्सकीय परीक्षण की अनुमति मिल गयी है। कंपनी कोरोना वायरस के मरीजों पर इसका परीक्षण कर सकेगी। दवा कंपनी सन फार्मास्युटिकल्स को भारतीय दवा महानियंत्रक (डीसीजीआई) से कोविड-19 की संभावित दवा नैफमोस्टेट मेसिलेट के चिकित्सकीय परीक्षण की अनुमति मिल गयी है। कंपनी कोरोना वायरस के मरीजों पर इसका परीक्षण कर सकेगी।

नैफमोस्टेट को जापान में नसों में खून के थक्के बनने (डीआईसी) और अग्नाशयशोथ के लक्षणों के इलाज में इस्तेमाल की अनुमति है। कंपनी के प्रबंध निदेशक दिलीप सांघवी ने एक बयान में कहा, ‘‘ सन फार्मा लगातार कोविड-19 के मरीजों के इलाज में इस्तेमाल करने लायक दवा की खोज कर रहा है। नैफमोस्टेट ने सार्स-कोव-2 वायरस के इलाज में उल्लेखनीय परिणाम दर्शाए थे। इस पर यूरोप, जापान और दक्षिण कोरिया में वैज्ञानिकों के तीन स्वतंत्र समूहों ने अध्ययन किया था।

कंपनी ने कहा कि महामारी के प्रकोप को देखते हुए नए इलाज विकल्पों की तत्काल जरूरत है। कंपनी जल्द से जल्द इसका मानवीय परीक्षण करेगी। कंपनी ने नैफमोस्टेट के कच्चे माल और तैयार उत्पाद दोनों का भारत में उत्पादन शुरू कर दिया है। इसके लिए उसने अपनी जापानी अनुषंगी पोला फार्मा की प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल किया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Covid-19: Sun Pharmaceutical gets DCGI nod for nafamostat clinical trial in patients