DA Image
3 जुलाई, 2020|10:28|IST

अगली स्टोरी

ब्रिटेन में हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन पर परीक्षण बहाल करने की मिली अनुमति

hydroxychloroquine

ब्रिटेन की चिकित्सा नियामक एजेंसी ने मलेरिया की दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन का कोविड-19 के लिए परीक्षण बहाल करने की अनुमति दे दी है। परीक्षण में यह देखा जाएगा कि यह दवा लेने पर स्वास्थ्यकर्मियों का कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव होता है या नहीं। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी इस दवा के फायदे गिना चुके हैं । 
        
दवा और स्वास्थ्य देखभाल उत्पाद नियामक एजेंसी ने पिछले महीने प्रतिष्ठित पत्रिका 'लांसेट में एक शोध के छपने के बाद इस दवा के परीक्षण पर रोक लगा दी थी। शोध में कहा गया था कि दवा के इस्तेमाल से मृत्यु का खतरा बढ़ जाता है । पता चला कि इस शोध के लिए जिन आंकड़ों का इस्तेमाल हुआ वो सही नहीं थे ।
         
पूर्व में ब्रिटेन में बड़े स्तर पर परीक्षण में पाया गया कि हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन कोविड-19 से मरीजों की मौत को रोकने में कारगर नहीं साबित हुई। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी ब्रिटेन और दूसरी जगहों के उपलब्ध आंकड़ों के आधार पर दवा पर अपने परीक्षण को स्थगित कर दिया था। लेकिन, डब्ल्यूएचओ ने कहा था कि एहतियाती तौर पर पहले ही हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा दी जाए तो संक्रमण से बचाव होगा या नहीं इसका पता अभी नहीं लग पाया है। 
         
नियामक एजेंसी ने मंगलवार को कहा कि स्वास्थ्यकर्मियों में दवा के इस्तेमाल पर मौजूदा परीक्षण को जारी रखने की उसने अनुमति दे दी है ।ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय का बैंकाक स्थित ट्रॉपिकल रिसर्च सेंटर एक परीक्षण करने वाला है जिसमें 40,000 से ज्यादा स्वास्थ्यकर्मियों और जोखिम वाले कर्मियों को शामिल किया जाएगा। परीक्षण में देखा जाएगा कि हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा उन्हें संक्रमण से बचाती है या नहीं ।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:covid-19:Permission to resume trial on hydroxychloroquine in Britain