DA Image
27 मई, 2020|5:57|IST

अगली स्टोरी

COVID-19: घंटों लगाए रहते हैं मास्क, तो ध्यान रखें ये बातें

face masks

कोरोना वायरस महामारी के डर से लोग एक-दूसरे से दूर रहने की कोशिश कर रहे हैं। दुनियाभर के कई देशों में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए लॉकडाउन है। वैज्ञानिक भी इस बीमारी के फैलने के तरीके का पता लगाने में लगे हुए हैं। वे इस बीमारी का इलाज और टीका खोजने में जुटे हैं और कई क्लिनिकल टेस्ट भी दुनिया भर के कई स्थानों पर शुरू हो चुके हैं, लेकिन अभी किसी भी तरह की कोई बड़ी राहत की बात सामने नहीं आई है। इसलिए सभी के लिए सबसे अच्छा विकल्प यह है कि कोरोना वायरस रोकथाम के तरीकों को पूरी तरह अपनाएं।

www.myupchar.com से जुड़े एम्स के डॉ. अजय मोहन का कहना है कि संक्रमित करने वाले वायरस मुख्य रूप से संक्रमित व्यक्ति या वस्तु को छूने से एक स्वस्थ व्यक्ति में फैलते हैं। लोग मुख्य रूप से कई स्थितियों में कोरोना वायरस के संपर्क में आते हैं, जिसमें किसी संक्रमित व्यक्ति द्वारा खांसने या छींकने पर संक्रमित हुई हवा में सांस लेना, संक्रमिक व्यक्ति के पास खड़े होकर उससे बात करना, उससे हाथ मिलाना आदि शामिल हैं। ऐसे में लोगों से बार-बार हाथ धोने की अपील की जा रही है और साथ ही मास्क पहनना आवश्यक हो गया है। इससे पहले विशेषज्ञों ने कहा था कि प्रोटेक्टिव मास्क जरूरी नहीं है अगर व्यक्ति कोरोना वायरस मरीजों की देखभाल करने वाले हेल्थ केयर प्रोफेशनल्स नहीं है या यदि उच्च जोखिम वाले वातावरण के संपर्क में नहीं है। लेकिन अब कई वैज्ञानिक और विशेषज्ञ कह रहे हैं कि बाहर जाते समय चेहरा जरूर ढकना चाहिए। यानी कहने का मतलब है कि फेस मास्क पहनना बहुत जरूरी हो गया है।

घंटों मास्क पहनने पर त्वचा पर पड़ता है असर
फेस मास्क कोरोनो वायरस महामारी के दौरान हेल्थ केयर प्रोफेशनल्स को बड़ी सुरक्षा देते हैं। यह संक्रमण से भी बचाएगा, लेकिन इन मास्क का इस्तेमाल करने का एक प्रतिकूल प्रभाव यह है कि वे त्वचा को नुकसान भी पहुंचा सकते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि मास्क कई घंटों के लिए पहनना पड़ता है, खासकर यदि आप ज्यादा जोखिम वाले वातावरण में काम करते हैं।

 

हडर्सफील्ड यूनिवर्सिटी के स्किनकेयर विशेषज्ञों का कहना है कि फेस मास्क पहनने के कारण त्वचा को नुकसान पहुंच सकता है। यह नुकसान पसीने और नाक पर होने वाले मास्क की रगड़ के कारण होती है। एक अन्य विशेषज्ञ इंस्टीट्यूट ऑफ स्किन इंटीग्रिटी एंड इन्फेक्शन प्रिवेन्शन के डायरेक्टर प्रोफेसर करेन ओसे कहती हैं कि फेस मास्क पहनने वालों में दबाव के नुकसान का जोखिम होता है। उन्होंने कहा, 'मास्क के नीचे पसीना आता है और यह घर्षण का कारण बनता है, जिससे नाक और गाल पर प्रेशर डैमेज होता है। इससे  त्वचा फट सकती है और इनसे संभावित संक्रमण हो सकता है।'

 

प्रोफेसर ओसे के अनुसार, 'हेल्थकेयर प्रोफेशनल्स जो मास्क पहनते हैं, वे चेहरे पर फिट होना चाहिए। मास्क पहनने वाले लोग अपनी त्वचा को साफ, अच्छी तरह से हाइड्रेटेड और मॉइस्चराइज रखें। यदि मास्क लगाने के कम से कम आधे घंटे पहले क्रीम लगाते हैं, तो यह त्वचा के लिए फायदेमंद होगा। हर दो घंटे में मास्क का दबाव हटाएं। इससे त्वचा को सांस लेने में मदद मिलेगी।

 

अधिक जानकारी के लिए देखें : https://www.myupchar.com/disease/covid-19/india-homemade-masks-covid19-coronavirus
यह स्वास्थ्य आलेख www.myUpchar.com द्वारा लिखा गया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:COVID-19: if you wear Masks for hours so keep these things in mind