DA Image
27 मई, 2020|10:16|IST

अगली स्टोरी

कोरोना वायरस महामारी के दौरान बुखार पर रखें नजर, यहां जानिए तापमान ट्रैक करने के टिप्स

hiv fever

कोरोना महामारी जंगल की आग की तरह दुनिया के अधिकांश हिस्सों में फैल गई है। संक्रमण के आम लक्षणों में बुखार, सूखी खांसी और सांस फूलना शामिल है। अब वायरस के 95 प्रतिशत मामलों में हल्के लक्षण होते हैं, जिसका इलाज सबसे अलग रहते हुए सावधानियों के साथ घर पर ही किया जा सकता है। ऐसे लोगों के लिए जिनमें हल्के लक्षण दिख रहे हैं, उन्हें डॉक्टरों की सलाह यह है कि उन्हें दिन में कम से कम दो बार अपना तापमान मापने और यह मॉनिटर करने की जरूरत है, ताकि पता चले कि वे बेहतर हो रहे हैं या स्थिति बिगड़ रही है। डॉक्टरों ने कुछ सुझाव दिए गए हैं, जिन्हें फॉलो करके घर पर अपने तापमान को मॉनिटर कर सकते हैं।
 
www.myupchar.com से जुड़े एम्स के डॉ. अजय मोहन का कहना है कि कोरोना वायरस से होने वाला संक्रमण एक तरह का वायरल इन्फेक्शन है जो कि मुख्य रूप से श्वसन तंत्र, नाक और गले को प्रभावित करता है। संक्रमण गंभीर नहीं है तो सामान्य सर्दी-जुकाम के लक्षण विकसित होने लगते हैं। अगर संक्रमण गंभीर हो गया है तो इससे होने वाले लक्षण भी गंभीर हो सकते हैं जैसे तेज बुखार, सांस लेने में तकलीफ और खांसी आदि।
 
हमेशा यह कहा जाता है कि शरीर का सामान्य तापमान 98.6 डिग्री फारेनहाइट है। हालांकि, रिसर्च के मुताबिक शरीर का सामान्य तापमान वास्तव में 97.9 डिग्री फारेनहाइट से थोड़ा कम है। शरीर का तापमान भी व्यक्ति के शरीर के वजन, ऊंचाई और अन्य कारकों के अनुसार अलग-अलग होता है।
 
कुछ लोग बुखार के साथ नहीं जागते हैं, लेकिन दिन के दौरान यह विकसित हो सकता है। आमतौर पर शाम 4 से 9 बजे के बीच का समय होता है जब अधिकांश बुखार अपने चरम पर पहुंच जाते हैं। इसलिए, यदि दिन में दो बार अपना तापमान माप रहे हैं, तो उनमें से एक इस समय के दौरान मापिए। साथ ही, हर दिन एक ही समय पर अपने तापमान को मापने से किसी भी उतार-चढ़ाव को समझने में भी मदद मिलेगी।
 
यदि अपना तापमान माप रहे हैं, तो किसी फैंसी चीज की जरूरत नहीं है। एक साधारण मेडिकल थर्मामीटर, डिजिटल या पारा, शरीर के तापमान का सटीक रीडिंग करने के लिए पर्याप्त है। एक स्कैनिंग डिवाइस खरीदने के लिए बड़ा पैसा खर्च करने की आवश्यकता नहीं है जो कि माथे पर बस लगाकर के तापमान का पता लगाने में मदद करने के लिए इन्फ्रारेड तकनीक का उपयोग करता है। इस प्रकार के उपकरणों का इस्तेमाल आमतौर पर हवाई अड्डों जैसे ज्यादा ट्रैफिक वाली जगहों में किया जाता है और इनका घर पर इस्तेमाल किए जाने पर कोई विशेष लाभ नहीं मिलता है। इस्तेमाल करने के बाद थर्मामीटर को अच्छी तरह से कीटाणुरहित करना याद रखें।
 
थर्मामीटर यह बताने के लिए सबसे सटीक तरीका है कि बुखार है या नहीं। हालांकि, शरीर में अन्य लक्षण भी बताए गए हैं जो यह संकेत देते हैं कि  बुखार है या नहीं। बचपन से इन संकेतों को पहचानते रहे हैं। वैकल्पिक रूप से ठंड लगना और पसीना और शरीर में दर्द बुखार के दो सबसे प्रचलित लक्षण हैं।
 
जब कुछ दिनों के लिए अपने बुखार को मॉनिटर करते हैं और यह कम नहीं हो रहा है, तो यह समय है कि अपने निकटतम चिकित्सक को दिखाएं। इस बीच, यह महत्वपूर्ण है कि अपने प्रियजनों से खुद को अलग कर लें, ताकि उन्हें वायरस से संक्रमित होने से बचाया जा सके।
 
अधिक जानकारी के लिए देखें :https://www.myupchar.com/disease/covid-19/cabin-fever
स्वास्थ्य आलेख www.myUpchar.com द्वारा लिखे गए हैं, जो सेहत संबंधी भरोसेमंद जानकारी प्रदान करने वाला देश का सबसे बड़ा स्रोत है। इसे जरूर देखें और वीडियो के लिए सब्सक्राइब करें https://www.youtube.com/c/myUpchar

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Coronavirus: Keep an eye on fever during corona virus epidemic know here tips to track temperature