DA Image
3 मार्च, 2021|7:16|IST

अगली स्टोरी

Coronavirus:हर 15 मिनट में पानी पीने से कोविड-19 नहीं होता?, जानें ऐसे ही मिथ और उनकी हकीकत

corona virus and lockdown

इन दिनों कोरोना वायरस को लेकर कई तरह के मिथक प्रचलित हो रहे हैं। इन्हें लेकर आम लोगों में काफी भ्रम की स्थिति पैदा हो रही है। क्या है, इन मिथकों की सच्चाई, इस बारे में आपको बता रहा है ‘हिन्दुस्तान'

मिथ: घर में बिजली के हर स्विच को सेनेटाइज करने की जरूरत है?

हकीकत: घर से बाहर कॉलबेल के स्विच को कभी-कभार सैनेटाइज करने की बात की जा रही है, पर घर के भीतर हर स्विच को बार-बार सैनेटाइज करने की जरूरत नहीं है। गीले कपड़े या पानी से तो बिल्कुल न करें। ऐसा करना खतरनाक हो सकता है। हाथ धोते रहना और शारीरिक व सामाजिक दूरी जैसे नियमों का पालन सही तरीके से करना ही पर्याप्त है।

High Blood pressure: डॉक्टर से पूछे बिना बीपी की दवा न छोड़ें

मिथ: कोरोना का संक्रमण होगा तो खुद पता चल जाएगा?

हकीकत:  ऐसा बिल्कुल नहीं है। कोरोना वायरस के संक्रमण के कई तरह के लक्षण सामने आ रहे हैं। इनमें से कुछ लक्षण श्वसन संबंधी अन्य रोगों, जैसे सामान्य फ्लू और जुकाम आदि में भी दिखते हैं, लेकिन अभी तक कोविड-19 के कई ऐसे मामले भी सामने आए हैं, जिनमें संक्रमित व्यक्ति में कई दिन तक कोई लक्षण नहीं दिखाई दिए थे। कोविड-19 के लक्षणों में बुखार, खांसी, सांस लेने में तकलीफ के साथ-साथ चक्कर, उल्टी और नाक बहने जैसे लक्षण भी दिखते हैं, जो संक्रमण ज्यादा फैलने पर न्यूमोनिया जैसी स्थिति में तब्दील हो जाते हैं। यह स्थिति आमतौर पर सामान्य फ्लू में नहीं होती।

मिथ: हर 15 मिनट में पानी पीने से कोविड-19 नहीं होता?

हकीकत: यह एक तथ्य है कि लगातार पानी पीते रहने से शरीर में पानी की कमी नहीं होती। शरीर डीहाइड्रेशन जैसी स्थिति से बचा रहता है। इम्यूनिटी भी अच्छी रहती है। लेकिन यह मानना कि यह वायरस गले में रहता है और बहुत सारा पानी पीने से पेट में चला जाएगा, जहां पेट में बनने वाले रसायन उसे नष्ट कर देंगे, गलत बात है। वायरस गले से प्रवेश कर सकता है और यह तेजी से कोशिकाओं में फैलने लगता है। पानी से इस वायरस को खत्म या बाहर नहीं किया जा सकता। ज्यादा पानी पीने से बार-बार पेशाब आने की समस्या से अवश्य जूझना पड़ सकता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Coronavirus: If you have corona infection will you know for yourself KNOW such myths and their reality