DA Image
28 मई, 2020|11:48|IST

अगली स्टोरी

Coronavirus: कोरोना के इलाज में गठिया की दवा पर परीक्षण जारी

medicine

भारतीय मूल के एक उद्यमी की ब्रिटेन स्थित जैव विज्ञान कंपनी इजना बायोसाइंस इटली के अस्पतालों में कोविड-19 के तेजी से बिगड़ते लक्षणों वाले मरीजों के उपचार की संभावना तलाशने के लिए विशेष प्रकार की गठिया रियुमेट्वाइड अर्थराइटिस की दवा के परीक्षण कर रही है। 

इजना बायोसाइंस ने कहा कि इसकी रोग प्रतिकारक (एंटीबॉडी) थेरैपी नैमिलुमैब को ह्यूमैनिटस अनुसंधान समूह के साथ आगामी सप्ताहों में बेरगामो और मिलान स्थित ह्यूमैनिटस के अस्पतालों में कोविड-19 के रोगियों पर परखा जाएगा। 

कंपनी के कार्यकारी प्रमुख सुमित सिद्धू ने कहा कि रोग प्रतिरोधी क्षमता से जुड़ी बीमारियों में जीएम-सीएसएफ की भूमिका को लेकर मजबूत साक्ष्य और कोविड-19 के बारे में बढ़ती हमारी समझ है। एंटी जीएम-सीएसएफ थेरैपी में वायरस के खिलाफ कार्रवाई के लिए रोगियों की रोग प्रतिरोधी प्रणाली के तरीके में बदलाव लाने की क्षमता है, जिससे ठीक होने में मदद मिलती है।
ह्यूमैनिटस यूनिवर्सिटी के इंटरनल मेडिसिन विभाग में एसोसिएट प्रोफेसर कार्लो सेल्मी के नेतृत्व में यह समूची कवायद हो रही है। कोविड-19 के ऐसे रोगियों का ब्योरा एकत्र किया जाएगा जिनकी स्थिति तेजी से बिगड़ रही है। इसका उद्देश्य रोगियों के आईसीयू या वेंटिलेटर पर जाने से पहले ही उनका उपचार करने का है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Coronavirus: Continuing trials on arthritis medicine in the treatment of COVID-19