DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अल्टेरनेट डे फास्टिंग: वजन कम करने और सेहतमंद रहने का नया तरीका

weight measuring  photo- hindustan times

सेहतमंद बने रहने के लिए वजन पर नियंत्रण सबसे जरूरी है। इन दिनों वजन कम करने का एक नया तरीका लोकप्रिय हो रहा है-अल्टेरनेट डे फास्टिंग (एडीअफ) यानी वैकल्पिक दिन उपवास। आसान शब्दों में कहें तो एक दिन छोड़कर उपवास रखना। ऑस्ट्रिया में यूनिवर्सिटी ऑफ ग्राज के शोधकर्ताओं ने पाया है कि इससे पेट में जमी चर्बी कम करने और बुरे कॉलेस्ट्रोल कंट्रोल करने में बहुत मदद मिलती है। एडीअफ न केवल आपका मोटापा कम करेगा, बल्कि लंबे समय तक सेहतमंद बने रहने में मदद करेगा। जानिए एडीअफ के बारे में: 

 जानिए एडीअफ से होने वाले फायदों के बारे में
27 अगस्त को हेल्थ जर्नल सेल मेटाबोलिज्म में प्रकाशित लेख में यूनिवर्सिटी ऑफ ग्राज के शोधकर्ताओं ने बताया कि महज 4 हफ्तों में एडीअफ के परिणाम सामने आ जाते हैं। इससे न केवल मोटापा बल्कि हार्ट रेट और ब्लड प्रेशर भी कंट्रोल होता है। ह्रदय और रक्त संचारी तंत्र में सुधार आता है। छह माह तक एडीअफ डाइट का पालन करने पर एलडीएल यानी खराब कोलेस्ट्रॉल को भी कम किया जा सकता है। इस तरह कैलोरी कंट्रोल करने पर ब्लड प्रेशर सुधरता है और हृदय संबंधी बीमारियां दूर रहती हैं। इससे होने वाले अन्य फायदों में मेथियोनिन जैसे अमीनो एसिड बढ़ने की क्रिया को रोकना भी शामिल है, इससे बुढ़ापा वक्त से पहले नहीं आता।  

एडीअफ से गैर-उपवास वाले दिनों में भी कीटोन बॉडी (फैट मटैबलिज्म का एक प्रॉडक्ट) का उच्च स्तर बना रहता है। थायराइड ग्रंथि के काम को प्रभावित किए बिना ट्राइयोडोथायरोनिन हार्मोन का निम्न स्तर हासिल किया जा सकता है। इससे पहले हुए रिसर्च में ट्राईआयोडोथायरोनिन के निम्न स्तर को लंबी उम्र के साथ जोड़ा गया है।

क्या एडीअफ के कुछ नुकसान भी हैं?

शोधकर्ताओं ने बताया कि यदि कोई छह माह तक एडीअफ अपनाता है, तो उसके शरीर पर कोई नकारात्मक असर नहीं होगा। हड्डियों की मजबूती और सफेद रक्त कोशिका की संख्या अप्रभावित रहती है, जबकि एडीअफ ऑटोफैगी को सक्रिय करके कोशिकाओं के दोबारा बनने में मदद करता है। ऑटोफैगी का मतलब है शरीर में जिन कोशिकाओं की टूट-फूट हो चुकी है उनकी अपने आप सफाई करना और शरीर में नई और स्वस्थ कोशिकाएं बनाने की प्रक्रिया को तेज करना।   


ऐसे करें एडीअफ की शुरुआत

एकदम से एडीअफ की शुरुआत न करें। धीरे-धीरे अपने शरीर को इसके अनुरूप ढालें। मसलन- शुरुआत एक दिन छोड़कर नाश्ता या लंच न खाकर करें। धीरे-धीरे आदत डालेंगे तो 36 घंटे भूखा रहना आसान होगा।

 उपवास के दिनों में मीठे पेय पदार्थों से दूर रहें। ये भूख बढ़ाने की वजह बन सकते हैं। इसके बजाय गर्म पानी पिएं। इससे कम भूख लगने में मदद मिलेगी।

 अपने आप को हाइड्रेटेड रखें। ढेर सारा पानी पिएं और तनावमुक्त रहें। उपवास के दिनों में किसी भी कठिन काम से बचें।


ADF में रखें इन बातों का ध्यान
60 सेहतमंद लोगों पर 4 हफ्तों के ट्रायल के बाद यह रिसर्च जारी की गई है। एडीअफ में सबसे अहम यह है कि उपवास वाले दिन आप किन चीजों का सेवन कर रहे हैं। उपवास वाले दिन बहुत ज्यादा तली-गली या शुगर युक्त चीजों से दूर रहें, तभी कैलोरी नियंत्रित रहेगी। ADF मोटे लोगों के लिए फायदेमंद है, लेकिन जिन्हें डायबिटिज है, उन्हें लंबे समय तक इसकी प्रैक्टिस नहीं करना चाहिए। टाइप-2 डायबिटिज वाले मरीज एडीअफ के दौरान कुछ छूट ले सकते हैं।

भारतीयों के लिए वरदान साबित हो सकती है ADF
भारत में मोटापा महामारी बन चुका है। नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे के अनुसार, 25 फीसदी से ज्यादा बॉडी मास इंडेक्स (BMI) वाली शहरी महिलाओं की संख्या 31.3 फीसदी (उम्र 15-49) है, वहीं गावों में यह आंकड़ा 14.3 फीसदी है। बॉडी मास इंडेक्स (BMI) शरीर की ऊंचाई और वजन का अनुपात मापने का तरीका है। डॉक्टर कहते हैं कि पुरुषों और महिलाओं में BMI 18.5 से 24.9 के बीच होना चाहिए। इससे ज्यादा होने पर इन्सान मोटापे का शिकार माना जाता है। एक के बाद एक अध्ययन में बताया गया है कि किस तरह मोटापा और मधुमेह, मोटापा और उच्च रक्तचाप तथा मोटापा और हृदय रोग आपस में जुड़े हैं। भारत में ये तीनों स्थितियां खतरनाक स्तर पर पहुंच चुकी हैं।

कुल मिलाकर एडीअफ वह ब्रह्मास्त्र हो सकता है, जिससे वजन भी कम हो जाएगा और सेहत को नुकसान भी नहीं होगा। वैसे भी उपवास भारतीय संस्कृति का अहम हिस्सा है। इसे शुरू से धर्म से जोड़ा गया, ताकि लोग सेहतमंद रहे। एडीअफ एक बार फिर इसी संस्कृति को अपने जीवन में उतारने और सेहतमंद रहने का मौका है।

 

इस विषय पर ज्यादा जानकारी हासिल करने के लिए जरूर पढ़ें

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Alternate Day Fasting: A New Way to Lose Weight and Stay Healthy