DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   माइग्रेन से रहते हैं परेशान, तो अपनी डाइट से जुड़ी इन बातों का रखें ख्याल

हेल्थमाइग्रेन से रहते हैं परेशान, तो अपनी डाइट से जुड़ी इन बातों का रखें ख्याल

myupchar.com,नई दिल्ली Published By: Pratima
Thu, 05 Dec 2019 02:09 PM
माइग्रेन से रहते हैं परेशान, तो अपनी डाइट से जुड़ी इन बातों का रखें ख्याल

माइग्रेन की समस्या अब आम हो गई है। मरीज के लिए इसका दर्द सह पाना बहुत मुश्किल होता है। माइग्रेन होने पर सिर के एक हिस्से में तेज दर्द उठता है। आधे सिर के तेज दर्द के साथ उल्टी आना, चक्कर आना और रोशनी तथा आवाज से परेशानी महसूस होना माइग्रेन के प्रमुख लक्षण हैं। इसका सही-सही कारण अभी तक पता नहीं चला है लेकिन डॉक्टर मानते हैं कि व्यक्ति के मस्तिष्क की गतिविधियों में मामूली-सा बदलाव इस परेशानी का कारण बन सकता है। इससे रक्त वाहिकाओं और नर्व सिग्नल्स प्रभावित होते हैं।

www.myupchar.com से जुड़े एम्स के डॉ. नबी वली के अनुसार, ‘माइग्रेन एक प्रकार का सिर दर्द है जिसमें सिर के दोनों या एक तरफ रुक-रुक कर भयानक दर्द होता है। माइग्रेन 2 घंटे से लेकर कई दिनों तक बना रहता है। माइग्रेन दूसरे सिरदर्द की तुलना में बहुत खतरनाक होता है।’  
कई चीजें माइग्रेन का कारण बन सकती हैं, जैसे कोई दवा, हार्मोन में बदलाव या नींद की कमी। इसमें आहार भी अहम भूमिका निभाता है। इस सिरदर्द वाले लगभग 10 प्रतिशत लोगों में भोजन एक ट्रिगर का काम करता है। माइग्रेन रिसर्च फाउंडेशन के अनुसार, यह माना जाता है कि माइग्रेन पैदा करने वाले अन्य ट्रिगर्स के साथ फूड ट्रिगर सबसे अधिक प्रभावी है।

 
यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया के अध्ययन के मुताबिक, माइग्रेन पीड़ितों पर अलग-अलग डाइट का अलग-अलग तरह से असर पड़ता है। यह आवश्यक नहीं कि एक मरीज को किसी डाइट से सिरदर्द अधिक होता है तो दूसरे को भी उस डाइट से यह शिकायत हो।

 

कैफीन
जरूतरत से ज्यादा कैफीन माइग्रेन का दर्द दे सकता है। कॉफी में कैफीन ज्यादा मात्रा में पाया जाता है और इसके सेवन से दिमाग की नसों के काम में रुकावट पैदा होती है। इससे दिमाग में खून का संचार धीमा होता है। इस वजह से आधे सिर में तेज दर्द पैदा होता है।

 

स्वीटनर
कई प्रोसेस्ड फूड्स में आर्टिफिशियल स्वीटनर्स होते हैं। यह चीनी के विकल्प के रूप में काम आते हैं, लेकिन ये स्वीटनर्स माइग्रेन पैदा करते हैं। इन स्वीटनर्स को आइसक्रीम, पेस्ट्री, केक, चॉकलेट आदि में भी डाला जाता है जो कि माइग्रेन के दर्द को बढ़ा सकते हैं।

 

अल्कोहल
अल्कोहल उन आम पदार्थों में से एक है जो माइग्रेन पैदा कर सकते हैं। इनके सेवन के दो या तीन घंटे के भीतर ही माइग्रेन हो सकता है। एल्कोहल के सेवन से डिहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है जो कि सिर दर्द का कारण बन सकती है।

 

चॉकलेट
अमेरिकन माइग्रेन फाउंडेशन के अनुसार, एल्कोहल के बाद चॉकलेट माइग्रेन का दूसरा सबसे आम ट्रिगर है। यह उन 22 प्रतिशत लोगों को प्रभावित करता है जो माइग्रेन का अनुभव करते हैं। इसमें कैफीन और बेटा-फेनी लेथाइलमाइन होता है जो कि कुछ लोगों में सिर दर्द पैदा करता है।

 

नमक
बहुत अधिक नमक वाली चीजें माइग्रेन का कारण बनती हैं। सॉल्टी प्रोसेस्ड फूड में नमक के साथ−साथ कई तरह के हानिकारक प्रिजर्वेटिव्स मिलाए जाते हैं जो माइग्रेन को ट्रिगर करते हैं। 

   

ठंडी चीजें
आइसक्रीम जैसी एकदम ठंडी चीजें खाने से माइग्रेन का अटैक आ सकता है। विशेष रूप से किसी गर्म तापमान के बाद ठंडी चीजें खाएंगे तो माइग्रेन आएगा ही।
डॉ. नबी वली के अनुसार, ‘माइग्रेन से बचाव का सबसे कारगर तरीका है संतुलित आहार। यदि माइग्रेन की समस्या है तो चॉकलेट, पनीर, सोया उत्पादों, कैफीन, शराब से बचें और अपने आहार में हरी पत्तेदार सब्जियों को शामिल करें।’

 

अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें

स्वास्थ्य आलेख www.myUpchar.com द्वारा लिखे गए हैं

संबंधित खबरें