फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News हरियाणापति को सरकारी नौकरी देंगे...और जालसाजों ने झांसा दे निकाल ली महिला की किडनी

पति को सरकारी नौकरी देंगे...और जालसाजों ने झांसा दे निकाल ली महिला की किडनी

पुलिस के मुताबिक, रिंकी सौरोत अपने पति के साथ बल्लभगढ़ में रहती हैं। रिंकी ने पुलिस को बताया कि करीब दो साल पहले उसने अपने पति के फेसबुक पर किडनी डोनेट करने का विज्ञापन देखा।

पति को सरकारी नौकरी देंगे...और जालसाजों ने झांसा दे निकाल ली महिला की किडनी
Devesh Mishraभाषा,फरीदाबादThu, 15 Dec 2022 08:49 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

देश की एक बड़ी आबादी सरकारी नौकरी की चाह रखती है। इसके लिए लोग सालों तैयारी भी करते हैं। लेकिन कुछ लोग जालसाजों के चक्कर में फंस जाते हैं। ऐसी ही जालसाजी की एक खबर बल्लभगढ़ से आ रही है। जालसाजों ने एक महिला को फंसा कर उससे उसकी किडना डोनेट करवा दिया। महिला इसलिए राजी हो गई थी क्योंकि उसे लालच दिया गया कि उसके पति की सरकारी नौकरी लगवा दी जाएगी। पुलिस ने बताया कि जब महिला के पति को जालसाजों ने नौकरी नहीं दिलाई, तब उसे एहसास हुआ कि उसके साथ धोखाधड़ी हुई है। महिला ने इस मामले की शिकायत पुलिस से की है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

पुलिस के मुताबिक, रिंकी सौरोत अपने पति के साथ बल्लभगढ़ में रहती हैं। रिंकी ने पुलिस को बताया कि करीब दो साल पहले उसने अपने पति के फेसबुक पर किडनी डोनेट करने का विज्ञापन देखा। विज्ञापन देख रिंकी ने किडनी डोनेट करने का मन बनाया। इसके बाद रिंकी से कुछ लोगों ने संपर्क किया और उसे किडनी डोनेट करने से मना कर दिया। आरोपियों ने रिंकी को झांसा दिया कि वो उसके पति की सरकारी नौकरी लगवा देंगे। रिंकी जालसाजों के झांसे में फंस गई। जालसाजों ने रिंकी को इसके बदले उनके कहे आदमी को किडना डोनेट करने को तैयार कर लिया। 

पुलिस के अनुसार, रिंकी का किडनी दिल्ली के विनोद मंगोत्रा नाम के व्यक्ति को डोनेट किया जाना था। नियम के अनुसार, परिवार का सदस्य ही किडनी दान कर सकता है। ऐसे में आरोपियों ने विनोद की पत्नी अंबिका के नाम से रिंकी का फर्जी आधार कार्ड और मैरेज सर्टिफिकेट बनवाया। आरोप है कि बाद में क्यूआरजी अस्पताल ने पिंकी का किडनी विनोद को ट्रांसप्लांट किया गया। महिला ने अस्पताल के कर्मियों पर भी मिलीभगत का आरोप लगाया है।

पुलिस का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। इसमें सच्चाई मिलने पर प्राथमिकी दर्ज कर आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा। उन्होंने क्षेत्र में किडनी प्रत्यारोपण से जुड़ा रैकेट चलाने वाले गिरोह के सक्रिय होने की आशंका जताई।

Advertisement