फोटो गैलरी

Hindi News हरियाणानफे सिंह राठी के परिवार को भी जान से मारने की धमकी, खुद को बताया लॉरेंस बिश्नोई का गुर्गा

नफे सिंह राठी के परिवार को भी जान से मारने की धमकी, खुद को बताया लॉरेंस बिश्नोई का गुर्गा

जिस समय फोन आया उस समय शोक व्यक्त करने आए भाजपा, कांग्रेस और इनेलो से जुड़े कई नेता और अन्य वहां मौजूद थे। नफे सिंह राठी के बेटे को फोन कर धमकी देने वाले शख्स ने खुद को लारैंस का गुर्गा बताया।

नफे सिंह राठी के परिवार को भी जान से मारने की धमकी, खुद को बताया लॉरेंस बिश्नोई का गुर्गा
Himanshu Jhaलाइव हिन्दुस्तान,चंडीगढ़।Fri, 01 Mar 2024 06:50 AM
ऐप पर पढ़ें

इंडियन नेशनल लोक दल (INLD) के प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व विधायक नफे सिंह राठी की और उनके साथी जयकिशन दलाल की हत्या कांड का अभी तक कोई खुलासा नहीं हो पाया है। अब उनके परिवार को जान से मारने की धमकी मिली है। आरोपी ने घर के अलग-अलग नंबरों पर फोन कर धमकी दी है। जिस समय फोन आया उस समय शोक व्यक्त करने आए भाजपा, कांग्रेस और इनेलो से जुड़े कई नेता और अन्य वहां मौजूद थे। नफे सिंह राठी के बेटे को फोन कर धमकी देने वाले शख्स ने खुद को लारैंस बिश्नोई गिरोह का गुर्गा बताया है। 

नफे सिंह राठी हत्याकांड में किसी गिरोह की सक्रियता है या नहीं इसको लेकर अभी कुछ स्पष्ट नहीं हुआ है। पुलिस हर एंगल से वारदात को जल्द से जल्द सुलझाने का दावा कर रही है। झज्जर के एसपी डॉ. अर्पित जैन ने बताया कि धमकी देने वाले का पता लगा लिया है। जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा। वहीं, हत्याकांड की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है। हरियाणा की सरकार की ओर से सीबीआई से जांच करवाने के लिए भी कहा गया है। 

ताबड़तोड़ गोलियां बरसा की थी हत्या
25 फरवरी को बहादुरगढ़ में इंडियन नेशनल लोक दल के प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व विधायक नफे सिंह राठी की ताबड़तोड़ गोलियां बरसा कर हत्या कर दी गई थी। राठी को लगातार जान से मारने की धमकियां मिल रही थीं।  इनेलो नेता और विधायक अभय चौटाला ने हत्याकांड की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है। चौटाला ने कहा कि पूर्व विधायक राठी को पुलिस सुरक्षा नहीं दी गई थी, इसके कारण यह हत्या हुई है। उन्होंने बताया कि सुरक्षा के लिए पुलिस से कई बार निवेदन किया था। उन्होंने इस हत्या के लिए मुख्यमंत्री और हरियाणा सरकार को जिम्मेदार ठहराया।

जाटलैंड में इनेलो के बड़े नेता थे राठी
जाटलैंड यानी रोहतक में नफे सिंह राठी का बहुत बड़ा कद था। वह रोहतक, सोनीपत व झज्जर जिले में पार्टी को खड़ा कर रहे थे। राठी न केवल दो बार बहादुरगढ़ से विधायक रहे, बल्कि 2009 के लोकसभा चुनाव में रोहतक सीट से 1 लाख 39 हजार वोट हासिल किए थे। साल 2019 के चुनाव से पहले इनेलो बिखर गई। 

पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला के बेटे अजय चौटाला जननायक जनता पार्टी बनाई। दूसरे बेटे अभय चौटाला इनेलो को फिर से खड़ा करने का प्रयास कर रहे हैं। इसके लिए उन्होंने बहादुरगढ़ से दो बार विधायक रहे नफे सिंह राठी को प्रदेश अध्यक्ष बनाया था। राठी की हत्या से पार्टी के लिए रोहतक, सोनीपत व झज्जर में कद्दावर नेताओं की कमी हो गई है।

रिपोर्ट: मोनी देवी

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें