फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News हरियाणासिख युवक से हुई बहस तो खालिस्तानी कहकर बुरी तरह पीटा, दो की गिरफ्तारी

सिख युवक से हुई बहस तो खालिस्तानी कहकर बुरी तरह पीटा, दो की गिरफ्तारी

हरियाणा के कैथल में एक सिख युवक के साथ मारपीट का मामला सामने आया था। युवक का आरोप है कि पिटाई करने वालों ने उसे खालिस्तानी कहा था। इस मामले में दो आरोपियो को गिरफ्तार किया गया है।

सिख युवक से हुई बहस तो खालिस्तानी कहकर बुरी तरह पीटा, दो की गिरफ्तारी
Ankit Ojhaभाषा,चंडीगढ़Sat, 15 Jun 2024 10:46 AM
ऐप पर पढ़ें

हरियाणा के कैथल में एक सिख व्यक्ति को खालिस्तानी कहने और फिर पिटाई करने के मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। सोमवार शाम को हुई घटना के बाद कैथल पुलिस ने इसकी जांच के लिए पांच सदस्यीय विशेष जांच टीम का गठन किया है। पुलिस अधीक्षक उपासना ने कैथल में संवाददाताओं को बताया कि गिरफ्तार किए गए लोगों की पहचान जींद के सिंगवाल गांव के निवासी ईशू और शेरगढ़ गांव के निवासी सुनील के रूप में हुई है। 

युवक ने आरोप लगाया है कि जब वह अपने स्कूटर से घर जा रहा था, तो मोटरसाइकिल सवार दो युवकों ने उसकी पिटाई की और उसे ‘खालिस्तानी’ कहा। पुलिस ने मंगलवार को यह जानकारी दी। पुलिस ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है और अभी तक इस बात का कोई सबूत नहीं मिला है कि "खालिस्तानी" शब्द का इस्तेमाल किया गया था। शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति (एसजीपीसी), कांग्रेस और शिरोमणि अकाली दल (शिअद) ने घटना की निंदा करते हुए दोषियों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की मांग की।

कांग्रेस की पंजाब इकाई के प्रमुख अमरिंदर सिंह राजा वडिंग ने दावा किया कि यह हमला "कंगना रनौत और भाजपा समर्थित कई अन्य आईटी सेल मंचों द्वारा पंजाबियों के खिलाफ नफरती भाषण का परिणाम है।" पुलिस ने कहा कि व्यक्ति ने आरोप लगाया कि उस पर सोमवार रात को हमला किया गया जब वह यहां एक रेलवे क्रॉसिंग पर ट्रेन के गुजरने का इंतजार कर रहा था। पुलिस ने बताया कि क्रॉसिंग के गेट खुलने के बाद जब वाहन चलने लगे तो उस व्यक्ति और दो युवकों के बीच बहस हो गई और मामला बढ़ गया तथा दोनों के बीच मारपीट हुई।

अस्पताल में भर्ती व्यक्ति ने मंगलवार को पत्रकारों से बात करते हुए कहा, "उन्होंने (दोनों युवकों ने) मेरे साथ दुर्व्यवहार किया और मुझे खालिस्तानी कहा। एक व्यक्ति मोटरसाइकिल से उतरा और मुझे ईंट से मारा।" पीड़ित ने बताया कि कुछ लोगों ने बीच-बचाव किया और उसे दो युवकों से बचाया, जो मौके से भाग गए। घटना की सूचना मिलने के बाद अस्पताल पहुंची पुलिस ने दो अज्ञात लोगों के खिलाफ मारपीट का मामला दर्ज किया था।

पुलिस ने बताया कि प्रारंभिक जांच के अनुसार, दोनों युवकों ने व्यक्ति से कहा कि वह नशे में है, जिसके बाद उनके बीच बहस शुरू हो गई।  एसजीपीसी अध्यक्ष एच.एस. धामी ने मांग की है कि पुलिस दोषियों को तुरंत गिरफ्तार करे। धामी ने ‘एक्स’ पर पोस्ट किया, "इस घटना ने पूरे सिख समुदाय की भावनाओं को ठेस पहुंचाई है। इसलिए, हरियाणा सरकार को इसे गंभीरता से लेना चाहिए और राज्य में रहने वाले सिखों की सुरक्षा सुनिश्चित करनी चाहिए।"

शिअद अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने हरियाणा के मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी से दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का आग्रह किया। उन्होंने ‘एक्स’ पर पोस्ट किया, ‘मैं और मेरी पार्टी कैथल में एक शांतिप्रिय सिख व्यक्ति पर अलगाववादी बताकर किए गए कायरतापूर्ण हमले की कड़ी निंदा करते हैं। यह नफरत और सांप्रदायिक ध्रुवीकरण की राजनीति का सीधा नतीजा है, जो पिछले एक दशक में देश को प्रभावित कर रही है।’ उन्होंने कहा, "यह देशभक्त सिख समुदाय को अपमानित करने का एक सोचा-समझा प्रयास है। इससे सिखों में आहत और अलगाव की भावना और गहरी होगी।"


 

Advertisement